Screenshot_6

कश्मीर में चल रही हिंसा पर सिख समुदाय ने लोगों ने पंजाब में कश्मीर के लोगो के लिए बीते शुक्रवार को कश्मीर सामंजस्य दिवस रखा. पंजाब में शुक्रवार को जुमा की नमाज़ अदा करने के बाद खालसा दल ने एक पुर-अमन जुलूस निकाल कर सरकार से कश्मीर में चल रही हिंसा को जल्द से जल्द रोकने और आर्मी को हटाने की मांग भी की.

और पढ़े -   बजरंग दल ने गरबे के दौरान गौमूत्र से किया गया लोगो का शुद्धिकरण

Screenshot_4

कश्मीर सांमजस्य दिवस पर खालसा दल ने कश्मीर हिंसा पर एक विरोध प्रदर्शन किया. जिसके दौरान कश्मीर में निर्दोष नागरिकों पर पैलेट गन के गलत इस्तेमाल और बेगुनाह और निहत्ते जवानों, बच्चों और बूढ़ों की मौत के खिलाफ आवाज़ उठाई.

खालसा दल की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया कि खालसा दल के सैकड़ो कार्यकर्ता शहर के सबसे व्यस्त चौक पर जमा हुए और सिख झंडे, बैनर और तख्तियों से अपने सन्देश को संप्रेषित किया.

और पढ़े -   जेटली से पूछा गया - बुलेट ट्रेन को हिंदी में क्या कहेंगे, जवाब देने के बजाय लगाई फटकार

पुलिस ने बताया कि विरोध प्रदर्शन के दौरान खालसा दल ने कहा कि, “कश्मीर के लोगो के सही आकांक्षाओं का सम्मान करना चाहिए. और कश्मीर के नागरिकों को अपनी इच्छाएं व्यक्त करने के लिए स्वतंत्र, निष्पक्ष और निरंकुश अवसर दिया जाना चाहिए. जोकि पूरे विश्व में रहने वाले लोगो का अधिकार हैं.”

तख्तियों द्वारा दिए जा रहे सन्देश में एक सन्देश में लिखा था कि “सिख राष्ट्र कश्मीरी राष्ट्र के साथ खड़ा है और आत्मा-निर्णय का अधिकार हर राष्ट्रयिता का अधिकार हैं.”

और पढ़े -   मन की बात में बोले पीएम मोदी - 'हमेशा 'मन की बात' को राजनीति से दूर रखा'

Web-Title: Sikhs protest in punjab over kashmir row

Key-Words: Sikh, Protest, Kashmir, Muslim, violence


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE