नई दिल्ली | दुनिया को जीने की कला सिखाने वाले श्री श्री रविशंकर, अपने एक ट्वीट की वजह से आलोचनाओ के घेरे में आ गए है. लोग उनको ट्वीटर पर ट्रोल कर रहे है तो कुछ उनसे सवाल कर रहे है की आर्ट ऑफ़ लिविंग पर भाषण देने वाले , अपनी ही शिक्षा पर अमल नही करते है. इससे पहले श्री श्री, एनजीटी ( नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ) द्वारा उनकी संस्था पर लगाए गए जुर्माने को लेकर भी विवादों में रह चुके है.

दरअसल श्री श्री रविशंकर ने ट्वीटर पर हो रही आलोचनाओ की तुलना आतंकवाद से कर दी. जिसके बाद लोगो ने उनकी खिंचाई करनी शुरू कर दी. श्री श्री ने ट्वीट किया,’ समाधान सुझाए बिना आलोचना करना आतंकवाद ही है’. उनके इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए फ़िल्मकार प्रतिश नंदी ने लिखा ,’ जिन्दगी में ऐसी बकवास कभी नही सुनी’. प्रतिश के अलावा क्रिकेटर रौनक कपूर ने भी श्री श्री की आलोचना की.

रौनक कपूर ने उनके ट्वीट को मूर्खतापूर्ण बताते हुए ट्वीट किया,’ श्री श्री का या बेवकूफाना , असंवेदनशील और लापरवाही भरा बयान है. मेरा आपको सुझाया समाधान यह है की आप ट्वीट करना बंद कर दे. खुश?.’ कुछ ऐसे भी लोग थे जिन्होंने श्री श्री की संस्था आर्ट ऑफ़ लिविंग पर भी कटाक्ष किये. जबकि एक ने तंज कसते हुए उनसे पुछा की गुरूजी क्या अपने एनजीटी का जुर्माना पे कर दिया? हालाँकि श्री श्री के कई समर्थको ने उनके ट्वीट का बचाव भी किया.

दरअसल एनजीटी ने श्री श्री की संस्था आर्ट ऑफ़ लिविंग पर पर्यावरण को नुक्सान पहुँचाने के आरोप में पांच करोड़ रूपए का जुर्माना लगाया था. आर्ट ऑफ़ लिविंग पर आरोप था की उन्होंने दिल्ली के यमुना किनारे एक कार्यक्रम आयोजित कर यमुना और पर्यावरण को नुक्सान पहुँचाया है. इस पर रविशंकर ने एनजीटी पर दुर्भावना से काम करने का आरोप लगाया था जिसके बाद एनजीटी उन्हें लताड़ भी लागई थी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE