भोपाल सेंट्रल जेल से सिमी सदस्यों की कथित फरारी और उसके बाद उनकी कथित मुठभेड़ में मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा मौत पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने शिवार्ज सरकार से इस मामले की पूरी रिपोर्ट तलब की हैं.

मानवाधिकार आयोग ने जेल और पुलिस प्रशासन को नोटिस जारी कर रिपोर्ट देने के लिए 15 दिन का वक्त दिया हैं. मानवाधिकार आयोग के पीआरओ एलआर सिसोदिया ने कहा कि वे वीडियो की भी जांच करेंगे.

और पढ़े -   मुस्लिमों को अपनी देशभक्ति साबित करने की जरूरत नहीं: डॉ जफरुल इस्लाम

गौरतलब रहें कि मध्यप्रदेश पुलिस ने दावा किया हैं कि सोमवार तड़के जेल में हेड कॉन्स्टेबल का गला रेतकर 8 सिमी कार्यकर्ता भोपाल सेंट्रल जेल से फरार हो गए थे लेकिन भोपाल से 10 किलोमीटर दूर पुलिस ने सुबह 11 बजे गुनगा थानाक्षेत्र के आचारपुरा गांव में 8 ही सिमी कार्यकर्ताओं को मुठभेड़ में मार गिराया.

मारे गये सिमी कार्यकर्ताओं की पहचान अमजद, जाकिर हुसैन सिद्दीक, मोहम्मद सालिक, मुजीब शेख, मेहबूब गुड्डू, मोहम्मद खालिद अहमद, अकील और माजिद के तौर पर की गई थी.

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस : लाल किले की प्राचीर से मोदी का भाषण , किया कश्मीर से लेकर तीन तलाक का जिक्र

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE