भोपाल | पिछले साल 11 दिसम्बर से शुरू हुई नमामि देवी नर्मदे-सेवा यात्रा का आज समापन हो गया. इस यात्रा के समापन समारोह में प्रधानमंती मोदी ने भी हिस्सा लिया. यह यात्रा नर्मदा के उद्दगम स्थल अमरकंटम में जाकर पूरी हुई. सरकार ने इस यात्रा को सफल बनाने के लिए पानी की तरह पैसा बहाया. यहाँ तक की अकेले समापन समारोह में करीब 20 करोड़ रूपए खर्च किये गये.

खबर है की प्रधानमंत्री मोदी के इस समारोह में शामिल होने की वजह से पुरे प्रदेश से लोगो को गाडियों और बसों में भरकर लाया गया. शिवराज सरकार पीएम मोदी की यात्रा एतिहासिक भीड़ इकठ्ठा करना चाहती थी इसलिए सभी जिले की डीएम् को भी लोगो को विभिन्न जगह से लाने के निर्देश दिए गए थे. खबर है की केवल लोगो को लाने ले जाने के लिए करीब 8 करोड़ रूपए खर्च किये गये है.

और पढ़े -   यूपी: गौरक्षक दल की नवरात्रों में मस्जिद के लाउडस्पीकर और मीट की दुकाने बंद कराने की मांग

सबूत के तौर पर सिंगरौली जिले के डीएम् का एक ख़त सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. इस पत्र में डीएम् साहब सरकार से लोगो को कार्यक्रम में पहुँचाने के लिए फंड की मांग कर रहे है. डीएम् ने फंड के तौर पर करीब 86 लाख रूपए की मांग की है. इसमें बस परमिट और डीजल इत्यादि पर होने वाले खर्चे को आधार बनाया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मोदी के कार्यक्रम में लोगो को लाने के लिए 53 सौ बसों का इंतजाम किया गया था.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने अब प्लेटफार्म टिकट के दोगुने किए दाम

बताते चले की शिवराज सरकार ने पिछले साल 11 दिसम्बर से नमामि देवी नर्मदे-सेवा यात्रा का शुभारम्भ किया था. आज अमरकंटम में इस यात्रा का समापन सामरोह मनाया गया. अमरकंटम में नर्मदा उद्दगम स्थल है. कहावत है की जो भी नेता यहाँ हवाई यात्रा करके आता है उसके बुरे दिन शुरू हो जाते है. यही कारण है की मोदी ने भी अपना हेलीकाप्टर अमरकंटम से आठ किलोमीटर दूर एक गाँव में रुकवा लिया. फिर यहाँ से उन्होंने कार से यात्रा पूरी की.

और पढ़े -   पेट्रोल-डीजल के बेलगाम होते दाम पर केन्द्रीय मंत्री का विवादित बयान कहा, तेल खरीदने वाला नही मर रहा भूखा, सोच समझकर लिया फैसला

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE