shahbuddin

पूर्व सांसद शहाबुद्दीन भागलपुर के विशेष केंद्रीय कारागार से 11 साल बाद आज रिहा हो गए. सीवान के चर्चित तेजाब कांड में हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद उन्हें आज रिहा किया गया हैं.

रिहाई के बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि हम सभी को पता है कि मुझे फंसाया गया था. लेकिन कोर्ट ने मुझे जेल भेजा था और आज उसी ने मुझे रिहा किया है.

और पढ़े -   मोदी सरकार में अल्पसंख्यकों के लिए कागजों में बहुत कुछ लेकिन जमीन पर कुछ भी नहीं

शहाबुद्दीन लालू प्रसाद यादव को अपना नेता न्ताते हुए कहा कि लालू यादव ही मेरे नेता हैं। मैंने कभी भी बैकडोर पॉलिटिक्स नहीं की है. साथ ही उन्होंने नीतीश कुमार को परिस्थितिवश सीएम बताया हैं.

पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की राजनितिक पकड़ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता हैं कि तेरह साल बाद भी उनके समर्थकों का हुजूम हैं. सीवान से 1500 गाड़ियों का काफिला उन्हें लेने के लिए आय हैं. जिसमे राज्य के कई नेता भी मौजूद हैं.

और पढ़े -   ओवैसी की अमित शाह को चुनौती कहा, दम है तो हैदराबाद से चुनाव लड कर दिखाए

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE