मुंबई | पिछले कई सालो से महाराष्ट्र के कई इलाको में जबरदस्त सुखा पड़ रहा है. जिसके सबसे बड़ी मार किसानो पर पड़ी है. यही वजह है की महाराष्ट्र के विदर्भ इलाके में  किसान लगातार आत्महत्या कर रहे है. हालाँकि देश के कई और राज्य है जहाँ कर्ज तले दबा किसान आत्महत्या कर रहा है. लेकिन विदर्भ में इसका औसत बाकि राज्यों से ज्यादा है. इसी कारण किसान आन्दोलन कर लगातार कर्ज माफ़ी की मांग कर रहा है.

और पढ़े -   हिन्दू से मुस्लिम बनी दलित दंपत्ति को मिल रही जान से मारने की धमकी, पत्र लिख योगी सरकार से की सुरक्षा की मांग

ऐसे में महाराष्ट्र के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने बड़ी पहल करते हुए 208 किसान परिवारों को गोद लेने का एलान किया है. इन सभी परिवारों से किसानो ने आत्महत्या की है. इसके बाद से ये सभी परिवार जीवन यापन के लिए संघर्ष कर रहे है. उनकी इस पीड़ा को समझते हुए कांग्रेसी नेता की यह पहला काबिल ए तारीफ है.

महाराष्ट्र विपक्ष के नेता और वरिष्ठ कांग्रेसी राधाकृष्ण विखे पाटिल ने आत्महत्या करने वाले 208 परिवारों को गोद लेने का फैसला किया है. उन्होंने देश के पूर्व वित्त राज्यमंत्री बालासाहेब विखे पाटिल के नाम से बनी सामाजिक संस्था के तहत इन परिवारों को गोद लिया. गुरुवार को इसकी घोषणा करते हुए बालासाहेब के बेटे राधाकृष्ण ने कहा की हमने इन परिवारों के एक सदस्य को संस्था में नौकरी देने का भी फैसला किया है.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने अब प्लेटफार्म टिकट के दोगुने किए दाम

इन परिवारों को गोद लेने से पहले सबके बारे में सटीक जानकारी जुटाई गयी, इसके बाद इन लोगो की जरूरतों को समझते हुए इन्हें गोद लेने का फैसला किया गया. इस योजना के अनुसार संस्था इन परिवारों के बीमा, स्कूल फीस और शादी योग्य लडकियों के विवाह का पूरा खर्चा उठाएगी. इस मौके पर राधाकृष्ण ने कहा की हमें किसान आत्महत्याओ को राजनीती से ऊपर उठकर देखना चाहिए.

और पढ़े -   गुजरात, हिमाचल विधानसभा चुनावों के लिए VVPAT का प्रयोग हुआ अनिवार्य

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE