deewan

सूफी संत हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती अजमेरी दरगाह के दीवान सैयद जैनुल आबेदीन अली खान ने केंद्र सरकार से कश्मीर में अलगाववादियों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किये जाने की मांग करते हुए कहा कि अलगाववादियों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर उन्हें कश्मीर से खदेडऩे की कार्रवाई की जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि विदेशी दुश्मनों से हमारी सेनाएं लोहा ले सकती हैं, लेकिन तब मुश्किल हो जाता है जब धर्म के नाम पर वोट की राजनीति की जाती रही हो और नौजवानों को धार्मिक कट्टरता के आधार पर गुमराही के अंधेरे में धकेलने की साजिशें खुलेआम रची जा रहीं हो.

और पढ़े -   आरएसएस के स्वदेशी जागरण मंच ने जीएसटी का किया विरोध कहा, इससे लघु उधोग हो जायेगा चोपट

उन्होंने कश्मीर में अलगाववादी नेताओं को पाकिस्तान के एजेंट बताते हुए कहा कि ये पाकिस्तान से भी पैसे खाते है और भारत से सुरक्षा और धन वसूल करते हैं. उन्होंने कहा कि आतंकवाद से ज्यादा अलगाववादियों से खतरा है और ये देश के लिए नासूर बने हुए हैं. कश्मीर की जनता शान्ति, रोजगार और विकास चाहती है, लेकिन अल्पमत वाले ये अलगाववादी देश को बांटने और आतंकवाद को बढ़ावा देने में लगे हैं.

और पढ़े -   शुद्धता के नाम पर रामदेव लगा रहे चुना - अब बिस्कुट में मिला सिंथेटिक रंग तो शहद में चीनी

दरगाह दीवान ने देश के राजनीतिक दलों का आह्वान किया कि उन्हें पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर पर कब्जे की निर्णायक कार्रवाई अमल में लाने का संसद में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया जाना चाहिए.

पत्रिका इनपुट के साथ


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE