नई दिल्ली | पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी के पुत्र स्वर्गीय संजय गाँधी के बारे में एक बड़ा खुलासा सामने आया है. एक महिला ने दावा किया है की वो संजय गाँधी की गुप्त संतान ( जैविक पुत्री) हूँ. महिला ने इस खुलासे को उजागर करने के पीछे , मधुर भंडारकर की फिल्म ‘इंदु सरकार’ को जिम्मेदार बताया. उन्होंने कहा की इस फिल्म में उसके बारे में गलत तथ्य पेश किये गए है इसलिए इस फिल्म पर रोक लगनी चाहिए.

दरअसल दिल्ली की तीस हजारी अदालत में एक 48 वर्षीय महिला प्रिया सिंह पाल ने ‘इंदु सरकार’ फिल्म पर रोक लगाने की मांग करते हुए एक याचिका दाखिल की है. प्रिया सिंह का दावा है की फिल्म में संजय गाँधी और उनकी माँ इंदिरा गाँधी को गलत तरीके से पेश किया गया है. खुद को संजय गाँधी की जैविक पुत्री बताने वाली प्रिया ने कहा की फिल्म में उसे गोद लिए जाने के दस्तावेज जाली है. चूँकि फिल्म में तथ्यों को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया इसलिए मुझे अपनी चुप्पी तोडनी पड़ी.

प्रिया ने कोर्ट से फिल्म पर रोक लगाने की मांग करते हुए कहा की उन्हें केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के फिल्म को सर्टिफिकेट देने पर भी आपत्ति है. बाद में मीडिया से बात करते हुए प्रिया ने कहा की मैं मीडिया में आने के लिए यह सब नही कर रही हूँ बल्कि फिल्म में मेरे पिता की छवि को ख़राब करने की कोशिश के विरोध में सामने आई हूँ. प्रिया ने आगे कहा की निर्माताओ के कहना है की फिल्म में केवल 30 फीसदी तथ्य दिखाए गए है, बाकी सब काल्पनिक है.

प्रिया का कहना है की यही 30 फीसदी लोगो के मन में उनके पिता के प्रति एक खास राय को जन्म देंगे. उन्होंने बताया की पहले उन्हें इस बात की जानकारी नही थी लेकिन बड़े होने पर उन्हें अपने जैविक पिता के बारे में पता चला. मालूम हो की मधुर भंडारकर की फिल्म ‘इंदु सरकार’ , 1975 में लगे आपातकाल के बारे में है. फिल्म का ट्रेलर देखने से पता चलता है की इसमें आपातकाल के दौरान संजय गाँधी के प्रभाव को दर्शाने की कोशिश की गयी है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE