नई दिल्ली। एक आरटीआई के जरिए मिले केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय का जवाब एक नए विवाद की वजह बन गया है। दरअसल एक अखबार के मुताबिक आयुष मंत्रालय से वर्ल्ड योगा डे 2015 के लिए शॉर्ट टर्म योगा टीचर और ट्रेनर के चुनाव से जुड़ा सवाल पूछा गया था इसके जवाब में मंत्रालय ने जो कहा वो हैरान करने वाला है।

और पढ़े -   देश में हिंदू आएं तो शरणार्थी, मुस्लिम आएं तो आतंकवादी: स्वामी अग्निवेश

content_mg-yoga-RTI-Ayush-01

मंत्रालय ने अपने जवाब में कहा कि वो मुस्लिम उम्मीदवारों का चुनाव ही नहीं करते। मंत्रालय ने ये भी माना कि वर्ल्ड योगा डे के लिए विदेश में शॉर्ट टर्म ट्रेनर के लिए 711 मुस्लिम उम्मीदवारों ने आवेदन किया था लेकिन किसी को भी इंटरव्यू के लिए नहीं बुलाया गया। आरटीआई के जवाब में ये भी बताया गया है कि अक्टूबर 2015 में योगा टीचर और ट्रेनर के लिए 3841 मुस्लिम उम्मीदवारों ने आवेदन किया था लेकिन किसी का भी चयन नहीं किया गया।

और पढ़े -   एक छात्रा के साथ छेडछाड के बाद बीएचयु छात्राओं ने किया प्रदर्शन कहा, लड़के देखकर करते है हस्तमैथून, नही मिली कोई भी सुरक्षा

हालांकि जब इस बारे में आईबीएन7 ने जब आयुष मंत्री श्रीपद नाइक से बात की गई तो उन्होंने कहा कि ये सिर्फ बदनाम करने की साजिश है।हम इस पर जांच कराएंगे और कानूनी कार्रवाई भी करेंगे। ये मंत्रालय को बदनाम करने की साजिश है।  नौकरी के लिए कोई पद नहीं निकाला गया था।

वहीं जेडीयू नेता के सी त्यागी ने कहा कि ये संविधान की अवधारण के खिलाफ है, हम संसद में ये मामला उठाएंगे। (ibnlive)

और पढ़े -   'अबकी बार मोदी सरकार' का नारा देने वाले ने खरीदा NDTV, 600 करोड़ रूपए में हुई डील

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE