राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ सहयोगी संस्था ने सम्राट अशोक को भारतीय इतिहास का खलनायक बताते हुए बौद्ध धर्म को लेकर भी कई आपत्तिजनक बातें कही गई हैजिसके कारण विवाद शुरु हो गया है.

राजस्थान वनवासी कल्याण परिषद् नाम की संस्था ने  अपने मुखपत्र बप्पा रावल भारतः कल, आज और कल नामक शीषक के साथ राधिका लढ़ा ने अशोक की महानता पर सवाल उठाते हुए कहा है कि मौर्य साम्राज्य के सम्राट अशोक के कारण ही भारतीय राष्ट्र पर बड़े संकटों के पहाड़ टूटे और यूनानी हमलावर भारत आ धमके.

उन्होंने अशोक को भारतीय राष्ट्र की अवनति का कारण मानते हुए आगे लिखा कि इसके बावजूद हमने अशोक की पूजा की. अच्छा होता कि राजा अशोक भी भगवान बुद्ध की तरह साम्राज्य त्यागकर, भिक्षु बनकर बौद्ध धर्म के प्रचार में लग जाते. अशोक ने ही सारे साम्राज्य को बौद्ध धर्म प्रचारक विशाल मठ के रुप में बदल दिया. इसी कारण ग्रीक से हमलावरों ने आकर भारत पर आक्रमण किया.

इस मामले से संघ ने खुद को अलग करते हुए कहा है कि यह विचार संघ के नहीं है। यह व्यक्तिगत है। संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ता कन्हैयालाल चतुर्वेदी ने यह भी कहा कि यदि अशोक में गुण थे, तो दोष भी थे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE