तेलंगाना। संसद के दोनों सदनों में जेएनयू और रोहित वेमुला मामले को लेकर हंगामा जारी है। बजट सत्र के पहले दिन बसपा प्रमुख मायावती ने रोहित आत्‍महत्‍या की जांच कमेटी में एक दलित को शामिल करने की मांग की थी।

इस बीच तेलंगाना पुलिस ने हाईकोर्ट में कहा है कि रोहित वेमुला दलित नहीं था। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने कोर्ट में जो रिपोर्ट दाखिल की है उसमें कहा गया है कि रोहित वेमुला दलित छात्र नहीं था इसलिए उसका मामला एससी/एसटी एक्‍ट के तहत नहीं आता है।

और पढ़े -   बीजेपी का झंडा लगी गाड़ी और हो रही बीफ़ की तस्करी

मालूम हो कि रोहित की आत्‍महत्‍या के बाद इस मुद्दे पर जमकर राजनीति हुई थी कि वो एक दलित छात्र था। हालांकि, सरकार और मंत्री लागातार यह कहते रहे कि वो दलित छात्र नहीं था। अब पुलिस की रिपोर्ट में भी इस बात का खुलासा हो गया है। (Naidunia)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE