हैदराबाद: हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में आत्महत्या करने वाले छात्र रोहित वेमुला समेत 5 छात्रों का निलंबन जिस आधार पर हुआ था, उस आधार पर ही सवाल उठ खड़ा हुआ है। यूनिवर्सिटी में एबीवीपी नेता सुशील कुमार की पिटाई ही शक के दायरे में आ गई है। सवाल यह है कि क्या वाकई सुशील कुमार की पिटाई हुई थी जिसकी वजह से उसे हॉस्पिटल में ऐडमिट होना पड़ा। मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक़, सुशील अस्पताल में अपेंडिक्स का ऑपरेशन कराने के लिए भर्ती हुआ था।

रोहित समेत अंबेडकर छात्र संगठन के उसके साथी छात्रों पर एबीवीपी के छात्र नेता सुशील कुमार के साथ मारपीट के आरोप लगे थे। सुशील कुमार की मेडिकल रिपोर्ट से ये बात सामने आई है कि उसके शरीर पर डॉक्टरों को चोट के निशान नहीं मिले।

उसे अपेंडिक्स के इलाज़ के लिए भर्ती कराया गया था जबकि पहले कहा गया था कि मारपीट के बाद सुशील कुमार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसी को आधार बनाकर एबीवीपी ने स्थानीय सांसद और केंद्र में राज्य मंत्री बंडारू दत्तात्रेय को शिकायत की थी जिन्होनें अपनी चिट्ठी में यूनिवर्सिटी में देशद्रोही और उग्रवादी गतिविधियों का आरोप लगाया था। इस पर एचआरडी मंत्रालय ने 5 महीनों में 6 चिट्टियां लिखकर यूनिवर्सिटी से जवाब तलब किया था। साभार: NDTV

 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE