ईद की खुशियां के बीच 15 साल के निसार अहमद ने अपने माता पिता को गोल्ड मेडल जीतकर ईद की खुशियों को न केवल दुगुना किया. बल्कि मिल्लत के सामने एक बेहतरीन मिसाल भी पेश की.

निसार ने शनिवार को आयोजित हुए दिल्ली स्टेट एथलेटिक्स में 100 मीटर और 200 मीटर की डबल स्प्रिंट रेस में अपना दूसरा गोल्ड मेडल जीतकर अपने माता-पिता का नाम रोशन कर दिया. निसार ने नेशनल अंडर-16 के ग्यारह सेकेंड में 100 मीटर की दौड़ को 0.02 सेकंड से जीतकर रिकॉर्ड बना दिया.

और पढ़े -   बुलेट ट्रेन को लेकर आशुतोष राणा का तंज कहा, उधार की 'चुपड़ी' रोटी से अच्छी श्रम से अर्जित की गयी 'सुखी' रोटी

निसार की जीत इसलिए भी खास है, क्योंकि उसने अंडर 16 ऑल इंडिया रिकॉर्ड को तोड़ा है. निसार बेहद ही गरीब परिवार से आते है. निसार जके पिता रिक्शा चलाते है और मां लोगों के घरों में काम करती है.

निसार दिल्ली के आज़ादपुर के रेलवे स्टेशन के बड़े बाग स्लम में रहता है. निसार की दो बहने हैं. एक की शादी हो चुकी है तो दूसरे की खातिर मां-पिता पैसे जुटाने में लगे हैं. निसार के पिता ने बेटे की कामयाबी पर कहा,अपने बेटे को दौड़ते हुए देखना चाहते हैं, लेकिन इसके लिए हमें एक दिन की कमाई को छोड़ना होगा, जोकि मुमकिन नहीं है. उन्होंने कहा,  करीब डेढ़ साल पहले मैंने अपने बेटे को स्पोर्टस की सामग्री, डाइट और एथेलेटिक्स करियर के लिए 28,000 रूपए का कर्ज लिया था, जोकि मैं अभी तक नहीं चुका पाया.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने SC में दाखिल किया हलफनामा, कहा - रोहिंग्‍या से देश की सुरक्षा को खतरा

वहीं मां सफिकुनिशा ने कहा कि मेरे बेटे की उपलब्धियों को लेकर मुझे इतनी खुशी है कि मेरे पास शब्द ही नहीं हैं,लेकिन वहीं मुझे दुख भी लगता कि अपने बेटे को अच्छा पोषण वाला भोजन नहीं खिला पा रही हूं, मुसीबत के बाद भी जब मेरे पास कुछ पैसे होते है तो में नसीर को नट्स, फल और हफ्ते में एक दिन मीट खिलाती हूं, जोकि उसे फिट और ताकतवर बना सके

और पढ़े -   पीएम मोदी को जन्मदिवस पर किसानों से मिले 68 पैसे के चेक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE