एक बेहद संजीदा मामला सामने आया है जिसे लेकर तनाव की स्थिति बन सकती है. आपको शायद याद होगा मुज़फ्फरनगर दंगों की शुरुआत करने में एक विडियो ने अहम् रोल अदा किया था जिसमे भीड़ द्वारा दो युवकों को मारा जा रहा है जिसे यह कहकर प्रचारित किया गया की मुज़फ्फरनगर की मुस्लिम भीड़ ने हिन्दू भाइयों को बेहरहमी से मार डाला. जबकि वो विडियो पाकिस्तान का निकला.

बिलकुल ऐसा ही मामला फिर से सामने आया है जहाँ इस बार माहौल खराब करने की ज़िम्मेदारी खुद मीडिया निभा रहा है, इस नाज़ुक मामले को सीधा सीधा हिन्दू मुस्लिम रूप दे दिया गया. आइये पहले जानते है क्या था मामला

क्या था मामला 

यह फोटो में युवक दिख रहा है उसका नाम शिव कुमार है जिसने की वहीँ के शख्स का मोबाइल चुराकर 600 रुपए में अन्य को बेच दिया, लेकिन जब चोर को पकड़कर उससे वापस मोबाइल माँगा गया तो वो आनाकानी करने लगा जिसपर उसके साथ मारपीट की गयी और उसे करंट लगाया. इसका उन्ही में से किसी एक ने विडियो बना लिया और व्हाट्सएप पर वायरल कर दिया जिसे बाद में हिन्दू मुस्लिम रंग दे दिया गया, और उसके बाद शिव कुमार ने अपनी गलती छुपाकर कहानी यह गढ़ दी की मुस्लिम युवक योगी-मोदी को गाली दे रहे थे जिसपर उसने उन्हें गाली देने से रोका तो उसके साथ यह तालिबानी सुलूक किया गया.

पहले देखिये न्यूज़18 किस टाइटल से इस खबर को चला रहा है

यहाँ तक की जनसत्ता ने भी इसकी तहकीकात करना मुनासिब नही समझा

अमर उजाला में एक दिन पहले ही यह खबर प्राकशित हो चुकी है, जिसके अनुसार “आजमगढ़ से हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। सरायमीर थाना क्षेत्र के एक गांव में कुछ लोगों ने मोबाइल चोरी के आरोप में एक युवक को घर से उठा लिया। युवक का हाथ पैर बांध कर बुरी तरह पीटा। उसे इलेक्ट्रिक शॉक दिया। घटना का वीडियो वायरल हो गया है।

पुलिस ने मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। चार अन्य  की धर-पकड़ के लिए कोशिश की जा रही है।   पठान टोला निवासी अदनान पुत्र एखलाख की सरायमीर कस्बे में कपड़े की दुकान है। आरोप है कि अदनान और साथियों ने 12 जुलाई की रात शिव कुमार पुत्र गोपालदास सेठ निवासी शेरवां को घर से उठा लिया।”

अमर उजाला की खबर का लिंक – http://www.amarujala.com/uttar-pradesh/varanasi/crime/viral-video-of-electric-shock-in-the-doubt-of-robbery

हालाँकि चारों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है लेकिन सोशल मीडिया पर इसे सांप्रदायिक रंग देने की भरपूर कोशिश की जा रही है, अभी ज़िम्मेदार नागरिक बनकर इसे शेयर कीजिये

नीचे देखिये अमर उजाला(स्नैपशॉट) में 16 जुलाई को ही यह खबर प्राकाशित हो चुकी है, जिसमे साफ़ साफ़ मोबाइल चोरी का ज़िक्र है तथा कहीं भी योगी-मोदी से जुड़ी किसी भी कहानी का ज़िक्र नही किया गया है लेकिन आज सांप्रदायिक ताकतें प्रदेश का माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर रही है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE