jama-masjid-shahi-imam-meets-pm-modi-over-detention-of-muslim-youths

पत्रकार अनरब गोस्वामी को अपने न्यूज़ चैनल ‘रिपब्लिक’ पर कथित तौर पर फर्जी खबर दिखाना महंगा पड़ गया है. शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कानूनी नोटिस भेजकर बिना शर्त माफ़ी की मांग की है.

दरअसल, चैनल ने अपनी एक रिपोर्ट में दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद का बिजली बिल नहीं चुकाने की वजह से वहां का बिजली कनेक्शन काट देने की खबर दिखाई थी. 30 अगस्त 2017 को चलाई गई इस स्टोरी को चैनल ने ‘पावर कट एट जामा मस्जिद’ नाम दिया था.

और पढ़े -   नोटबंदी और जीएसटी से जीडीपी पर प्रतिकूल असर पड़ा है: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

बुखारी ने अपने नोटिस में चैनल के मालिक से माफी की मांग के साथ 15 दिनों के अंदर चैनल की वेबसाइट से ये स्टोरी हटाई जाने की मांग की है. याद रहे चैनल ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर लिखा था कि, ‘इमाम बुखारी के पास लक्जरी कारें खरीदने के लिए पैसे हैं लेकिन वो बिजली बिल का भुगतान नहीं कर सकते हैं.’

कारवां डेली से बात करते हुए इमाम बुखारी ने कहा कि ये स्टोरी गलत, आधारहीन, मानहानि पहुंचाने वाला है और इसे जामा मस्जिद और उन्हें बदनाम करने के लिए दिखाया गया है, क्योंकि जामा मस्जिद की बिजली कभी काटी ही नहीं गई थी.’

और पढ़े -   मालेगांव ब्लास्ट: कर्नल पुरोहित के बाद अब दो और आरोपियों को मिली जमानत

इमाम बुखारी ने कहा, ‘मेरे परिचितों ने मुझे बताया कि रिपब्लिक टीवी पर मेरे और जामा मस्जिद के बारे में एक स्टोरी चलाई जा रही है, मैं इसमें कुछ साजिश देखता हूं क्योंकि उसी दिन दिखाया जा रहा था जिस दिन बाबा राम रहीम के भक्तों द्वारा उसे सजा सुनाने के बाद हरियाणा में हिंसा की गई थी.’

इमाम बुखारी ने कहा, ‘ये चैनल और इसका संपादक मुसलमानों की बुराई करने के लिए जाना जाता है और इसका झुकाव भगवा संस्थाओं की ओर है.’ इसमें कोई शक नहीं है कि ये स्टोरी और ट्वीट मेरे और मुस्लिम समुदाय की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने के लिए दिखाई गई थी.

और पढ़े -   बिना ब्रेक के दरभंगा एक्सप्रेस 350 किलोमीटर तक दौड़ी, हादसा होने से बाल-बाल बचा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE