jak

दुनिया भर में अपनी कट्टर वहाबी और सलफी विचारधारा को प्रचारित करने वालें मुंबई के जाकिर नायक को बांग्लादेश की राजधानी ढाका में हुए हमलें को अंजाम देने वालें रोहाना इब्ने इम्तियाज़ और निबरस इस्लाम जैसे आतंकियों द्वारा आदर्श बताये जानें पर सुन्नी मुस्लिम संगठन रजा एकेडमी ने जाकिर नायक पर प्रतिबंध लगाने की मांग की हैं.

रजा एकेडमी ने केंद्र और राज्य सरकार से मांग की है कि नाईक के संगठन इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन पर प्रतिबंध लगे. इसके साथ साथ नाईक के आतंकी कनेक्शन की जांच हो. नाईक के पास इतने पैसे कहां से आते हैं इसकी भी जांच होनी चाहिए.

आतंकियों का ज़ाकिर नायक से प्रभावित होने का यह पहला मामला नहीं हैं. इससे पहले भी कई ऐसे मामलें सामने आ चुके हैं जिसमे आतंकियों ने खुद को ज़ाकिर नायक से प्रभावित बताया था.  2009 में न्यूयोर्क के सबवे में फिदायीन हमले की साजिश रखने के आरोप में गिरफ्तार नजीबुल्ला जाजी के दोस्तों ने बताया कि वो काफी वक्त तक डॉ.नाईक की तकरीरों को टीवी पर देखता था.

2006 में मुंबई की लोकल ट्रेनों में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों के मामले में आरोपी राहिल शेख भी डॉ.नाईक से प्रभावित था. 2007 में बैंगलोर का एक शख्स कफील अहमद ग्लासगो एयरपोर्ट को उडाने की कोशिश करते हुए घायल हो गया. जांच में पता चला कि जिन लोगों की बातों से वो प्रभावित था उनमें से डॉ.जाकिर नाईक भी एक थे.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें