नई दिल्ली | एनडीटीवी के मशहूर एंकर रविश कुमार , सोशल मीडिया पर ट्रोल होने वाले पत्रकारों में अग्रणी पत्रकार माने जाते है. तटस्थ पत्रकारिता करने वाले रविश कुमार को बीजेपी समर्थक मोदी विरोधी समझते है इसलिए सोशल मीडिया पर उनको खूब गाली भी देते है. इसका एक ताजा उदाहरण रविश कुमार की फेसबुक पोस्ट से देखा जा सकता है. जिसमे एक यूजर उनको गंदी गंदी गलिया दे रहा है.

चौकाने वाली बात यह है की जो यूजर रविश के साथ गाली गलौच कर रहा है वो खुद इंटेलिजेंस ब्यूरो का एक अधिकारी बताता है. इसके अलावा उसके प्रोफाइल से बता चल की वह आईआईएम् अहमदाबाद से पढ़ा हुआ है और चार्टेड अकाउंटेंट भी रह चूका है. इसके बावजूद भी वह रविश के साथ अभद्र व्यवहार कर रहा है. रविश ने आईबी अधिकारी की सभी गाली गलौच का स्क्रीनशॉट लेकर उसे अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट कर दिया.

और पढ़े -   गोरखपुर के एडीएम के तार ISI जुड़े होने का संदेह , एटीएस करेगी पूछताछ

इसी के साथ ही रविश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी से इस मामले की जाँच करने की अपील करते हुए एक पोस्ट भी लिखी. रविश ने लिखा,’ मुझे नही पता की  इंटेलिजेंस ब्यूरो के अधिकारी भी अपने फेसबुक पहचान से गाली देते हैं. अगर मनीष सोमानी ने अपने प्रोफ़ाइल में यह सूचना सही दी है कि वे इंटेलिजेंस ब्यूरों में जाँच अधिकारी है तो यह सरकार के ख़ुफ़िया तंत्र के लिए चिंता की बात है.’

रविश आगे लिखते है,’ मुझे लगता है कि इसकी जाँच होनी चाहिए. दो बातों के लिए. क्या ये फेसबुक आई डी सही है ? क्या मुझे गाली देने के अभियान में इंटेलिजेंस ब्यूरो के लोग भी लगाए गए हैं? गाली सुनना मेरे लिए बड़ी बात नहीं है. फेक आई डी से गाली देता है तो भारतीय संस्कृति के लिए बुरा लगता है. अब तो इसकी आदत हो गई है और कई बार कहता भी हूँ कि भाई बहुत धुलाई कर ली अब बंदे पर रहम और रिलैक्स करो!’

और पढ़े -   ईद-उल-अजहा पर मुसलमान बेखौफ होकर करें कुर्बानी: मौलाना अरशद मदनी

रविश यही नही रुके उन्होने आगे कहा ,’मनीष सोमानी जी अगर आप वाक़ई इंटेलिजेंस ब्यूरो में काम करते हैं तो यह विभाग की विश्वसनीयता के लिए अच्छा नहीं है. मुझे गाली देने के लिए भारत की सुरक्षा व्यवस्था से समझौता न करें. आपने IIM AHMEDABAD जैसे उच्च संस्थानों से पढ़ाई की है. आप शायद इस संस्थान से निकले हुए पहले व्यक्ति होंगे जो इंटेलिजेंस ब्यूरो में काम करता है.’

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस : लाल किले की प्राचीर से मोदी का भाषण , किया कश्मीर से लेकर तीन तलाक का जिक्र

रविश ने इस यूजर के बारे में आगे लिखा ,’आप CA भी हैं. आप लगता है किसी को भी आतंकवादी बता देने में माहिर हो चुके हैं. अहमदाबाद में कोई इंटेलिजेंस ब्यूरो के चीफ़ को जानता है तो उन तक मेरा पोस्ट पहुँचाने का कष्ट करे ताकि चीफ़ जी गाली देने में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए मनीष सोमानी को सम्मानित कर सकें. मैं मनीष सोमानी के कमेंट और प्रोफ़ाइल का स्क्रीन शॉट लगा रहा हूँ, कृपया देखें’.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE