पटना. बिहार के अरवल जिले की एक दुष्कर्म पीड़िता ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से दया मृत्यु की अनुमति मांगी है. उसका कहना है कि तीन माह बीत जाने के बाद भी उसे अब तक न्याय नहीं मिल पाया है. अरवल जिले के सफ्लापुर गांव की करीब 20 वर्षीय युवती ने इस संबंध में राष्ट्रपति को पत्र भेजा है.

प्रणब मुखर्जी, Pranab Mukherjee

पीड़िता के एक रिश्तेदार ने कहा, “दुष्कर्म पीड़िता ने सभी अधिकारियों के दरवाजे खटखटाए, लेकिन उसे अब तक न्याय नहीं मिला. इसे देखते हुए उसने दया मृत्यु की अनुमति के लिए राष्ट्रपति को पत्र भेजा है.”

और पढ़े -   लापरवाही बनी मुजफ्फरनगर रेल हादसे की वजह, 24 की मौत और 150 से ज्यादा घायल

पीड़िता ने अपने पत्र में कहा है कि पुलिस अपने कर्तव्यों का निर्वहन सही तरीके से नहीं कर रही है और अभियुक्त को अरेस्ट नहीं कर रही है. पुलिस ने कहा कि डॉक्टोरों ने टेस्ट में युवती से रेप की पुष्टि हुई है. अरवल महिला थाने में इस संबंध में एफआईआर दर्ज भी है. बताया जाता है कि आरोपी सेना में है और वह बिहार से बाहर पदस्थ है.

और पढ़े -   कर्नल पुरोहित ने सेना के गौदाम से चुराया था RDX, मालेगांव ब्लास्ट में हुए था इस्तेमाल

पीड़िता की शिकायत के मुताबिक, उसके साथ रेप उसके पिता पक्ष से संबंधित एक नजदीकी रिश्तेदार ने 22 अक्टूबर को किया. युवती का कहना है कि आरोपी के परिजन मामला वापस लेने के लिए उसे लगातार धमका रहे हैं, वरना अंजाम भुगतने की धमकी दे रहे हैं. अरवल महिला थाने की प्रभारी कुमारी बबीता ने कहा कि मामले की जांच जारी है और अब तक किसी को अरेस्ट नहीं किया गया है. साभार: inkhabar

और पढ़े -   वाराणसी के बीएचयु अस्पताल में मरीज को ऑक्सीजन की जगह दी दूसरी गैस, हुई मौत, ऑक्सीजन सप्लाई करने का ठेका बीजेपी विधायक की कंपनी को

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE