नाबालिग से यौन शोषण के आरोप में जोधपुर जेल में बंद आसाराम की संपत्ति के बारे में आयकर विभाग ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए अपनी रिपोर्ट में कहा आसाराम के चैरिटेबल ट्रस्ट ने 2008-09 से अब तक करीब 2300 करोड़ की बेनामी आय छिपाकर रखी. आयकर विभाग ने आसाराम के ट्रस्ट को दी जाने वाली टैक्स छूटें खत्म करने का सुझाव दिया है.

और पढ़े -   मॉब लिंचिंग: विपक्ष की कानून में बदलाव की मांग को सरकार ने ठुकराया

आयकर विभाग की जांच में आसाराम और उनके अनुयायियों के करोड़ों के बेनामी निवेश के बारे में पता चला है जिसमे आसाराम का रियल स्टेट, म्युचुअल फंड, शेयर, किसान विकास पत्र और फिक्स डिपॉजिट स्कीम्स में करोड़ों का बेनामी निवेश है.

कोलकाता स्थित आसाराम की सात प्राइवेट कंपनियों के द्वारा ये सारा गोलमाल किया गया हैं. आसाराम अपने अनुयायियों के जरिए इन कंपनियों के द्वारा लोन देने का काम करता था. आसाराम और उनके अनुयायियों ने 1991-92 से अब तक करीब 3800 करोड़ रुपए का लोन दिया है.

और पढ़े -   प्रशांत भूषण ने वेंकैया नायडू के भूमि घोटाले की खबर की ट्वीट , हुए ट्रोल

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE