राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के प्रत्याशी रामनाथ कोविंद ने जीत दर्ज करते हुए यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार को हराया है. हालाँकि वे प्रणब मुखर्जी के वोट रिकॉर्ड को भी नहीं तोड़ पाए. कोविंद को 65.65 प्रतिशत मत मिले.

चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक पूर्ववर्ती प्रणब मुखर्जी को वर्ष 2012 में हुए चुनाव में 69.31 फीसदी वोट मिले थे. वर्ष 2007 में प्रतिभा पाटिल को 65.82 प्रतिशत मिले थे, इसके अलावा केआर नारायणन (1997) और एपीजे अब्दुल कलाम (2002) को क्रमश: 94.97 और 89.57 प्रतिशत मत मिले थे.

और पढ़े -   तीन तलाक: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोला दारुल उलूम कहा, शरियत में कोई दखलअंदाजी बर्दाश्त नही

कोविंद ने राष्ट्रपति चुनाव में कुल 10,90,300 में से 7,02,044 मत प्राप्त किए. वहीँ मीरा कुमार को 3,67,314 मिले. इस हिसाब से निर्वाचित उम्मीदवार को 65.65 प्रतिशत मत मिले.

हालांकि हार के बावजूद भी मीरा कुमार ने 50 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. उन्होंने हारे हुए उम्मीदवार के तौर पर इस चुनाव में 3.67 लाख वोट मिले हैं. ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी हारने वाले प्रत्याशी को इतने वोट मिले हैं.

और पढ़े -   कांग्रेस का आरोप, अडानी समूह ने किया 50 हजार करोड़ रूपए का घोटाला, जनता से वसूला जा रहा अडानी टैक्स

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE