केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि राज्य मंत्री राम शंकर कठेरिया के आगरा में दिए गए भाषण की सीडी जांच में कुछ भी भड़काउ नहीं पाया गया है.

राजनाथ सिंह ने राज्य सभा में नफ़रत वाले भाषणों के मुद्दे पर विपक्ष के आरोपों और आपत्तियों का जवाब दे रहे थे.

गृह मंत्री ने कहा, “जो सीडी हमने देखी है, मैंने उसे अधिकारियों को भी देखने को कहा है, उसमें पाया गया है कि उन्होंने कुछ भी ऐसा नहीं कहा है जिसे भड़काने वाली बात कही जाए.”

इससे पहले राज्यसभा में विपक्षी नेताओं ने राज्य मंत्री राम शंकर कठेरिया के आगरा में दिए गए कथित भड़काउ भाषण पर उनके ख़िलाफ़ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग उठाई.

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि आगरा पुलिस ने भी जिन तीन लोगों के ख़िलाफ़ मामले में एफआईआर दर्ज किया है उसमें कठेरिया का नाम नहीं है. उनका कहना था कि यदि उनके भाषण में कुछ भड़काउ होता तो उनका नाम ज़रूर होता.

उन्होंने कहा, “केंद्र ने कभी भी किसी राज्य को किसी के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने से नहीं रोका है. क़ानून व्यवस्था राज्य सरकार के अधिकार क्षेत्र में है. सदन में आरोप-प्रत्यारोप का दौर ख़त्म होना चाहिए.”

राजनाथ सिंह ने कहा, “भारत में कोई नाथूराम गोडसे को कैसे पूज सकता है? जो भी भारतीय है वो राष्ट्रवादी है.”

राजनाथ सिंह ने अपने लंबे भाषण में भारत की विविधता का ज़िक्र किया और सभी मज़हबों की इज़्ज़त किए जाने की बात कही.

इस बीच सीपीएम के महासचिव सीताराम येचूरी ने राजनाथ सिंह से कहा कि गृह मंत्री जो कह रहे हैं वो भूत की बात है और उन्हें आज की बात करनी चाहिए. (BBC)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें