राहुल गांधी ने कहा, जब भी किसी के साथ गलत होता है, अन्याय होता है तो मैं उसकी मदद करता हूं। मुझे लगा कि सरकार ने नौकरीपेशा लोगों के साथ गलत किया तो मैंने आवाज उठाई।

भारी विरोध और दबाव के बीच केंद्र सरकार ने ईपीएफ पर टैक्स का फैसला वापस ले लिया है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इसका श्रेय लेते हुए कहा कि यह उनकी ओर से बनाए गए दबाव का नतीजा है। उन्होंने सरकार के इस फैसले को अच्छा कदम करार दिया और कहा कि मैंने सरकार पर जो दबाव बनाया वह अंत काम आ गया।

और पढ़े -   गौरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा के शिकार लोगो मुआवजा दे राज्य सरकारे- सुप्रीम कोर्ट

पत्रकारों से वार्ता के दौरान राहुल गांधी ने कहा, जब भी किसी के साथ गलत होता है, अन्याय होता है तो मैं उसकी मदद करता हूं। मुझे लगा कि सरकार ने नौकरीपेशा लोगों के साथ गलत किया तो मैंने आवाज उठाई।

ज्ञात हो कि केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ईपीएफ पर टैक्स लेने का फैसला मंगलवार (8 मार्च) को वापस ले लिया है। वित्त मंत्री ने लोकसभा में इस बात की घोषणा की। आम बजट में जेटली द्वारा ईपीएफ से पैसे निकालने वक्त 60 फीसदी रकम पर टैक्स लगाने का प्रस्ताव किया गया था। इस प्रस्ताव की चौतरफ आलोचना हुई थी। (Jansatta)

और पढ़े -   रोहिंग्या शरणार्थियों की आने की संभावना के चलते भारत ने म्यांमार के साथ की अपनी सीमा सील

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE