प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करारा प्रहार करते हुए कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार सवाल किया कि वह गरीबों की तकलीफों के बारे में कुछ क्यों नहीं बोलते।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करारा प्रहार करते हुए कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार सवाल किया कि वह गरीबों की तकलीफों के बारे में कुछ क्यों नहीं बोलते। राहुल ने दावा किया कि भाजपा सरकार की विश्वसनीयता काफूर हो चुकी है। उत्तरी मुंबई के उपनगर मलाड में पार्टी कार्यकर्ताओं के एक जलसे को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा, ‘तकरीर देना बहुत अच्छी बात है लेकिन मोदी गरीबों की तकलीफों के बारे में खामोश क्यों हैं।’ राहुल ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह अपने आपसी मतभेद भुलाकर मिलकर काम करें और कांग्रेस को सत्ता में वापस लाएं।

और पढ़े -   जंतर मंतर पर जुटे हजारो किसान, मोदी के भाई ने भी सरकार से माँगा अपना हक़

उन्होंने कांग्रेस नेताओं से गुटबाजी से दूर रहने की अपील करते हुए मकर संक्रांति के मौके पर मराठी में दी जाने वाली शुभकामना दोहराई, ‘तिल गुल घ्या, गोड़ गोड़ बोला’ यानी मीठा मीठा खाओ, मीठा मीठा बोलो। राहुल ने कहा, ‘एक सरकार की विश्वसनीयता को समाप्त होने में अमूमन दो..तीन..चार साल लगते हैं लेकिन भाजपा सरकार की विश्वसनीयता बहुत जल्दी काफूर हो गई।

उन्होंने कहा कि ‘स्टार्ट अप्स और भारत जोड़ो’ की बातें तो बहुत होती हैं, ये बातें अच्छी हैं, लेकिन भारत में गरीब लोग और घरेलू कामगार भी हैं, सरकार उनको भूल गई है। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, ‘किसी किसान की हालत के बारे में पूछें, वह अपनी दुर्दशा बताते हुए रो देंगे। आप गरीब लोगों को, खोमचे वालों को पीछे नहीं छोड़ सकते।’

और पढ़े -   मुस्लिमो पर हो रहे हमलो और मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ दिल्ली में हजारो लोग हुए एकत्र, किया विरोध प्रदर्शन

राहुल ने कहा कि मोदी स्वच्छ भारत के बारे में बोलते हैं। मोदीजी और उनके मंत्रियों ने हाथ में झाड़ू उठाई और सड़कें साफ कीं, लेकिन मुंबई में टनों कचरा है, ‘आप तकरीर देकर और समारोह करके मुंबई को साफ नहीं कर सकते।’ उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में बहुत से लोगों ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत बनाए गए शौचालय तोड़ डाले। राहुल ने कहा कि बृह्नमुंबई नगर निगम का बजट हजारों करोड़ रुपए का है, लेकिन इस सरकार ने मुंबई को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए सिर्फ 100 करोड़ रुपए दिए। ‘जब हम सत्ता में थे, तो हमने नांदेड़ जैसे शहर को 2,000 करोड़ रुपए दिए थे।’

राहुल गांधी ने कहा कि अगर मुंबई का विकास करना है तो महापौर के पद पर कांग्रेस के उम्मीदवार को जिताना होगा। ‘पहले हम मुंबई जीतेंगे, फिर राज्य और फिर केंद्र में सरकार बनाएंगे।’ उन्होंने कहा कि मुंबई में शनिवार अपनी पदयात्रा के दौरान वह गरीबों पर बिजली अधिभार को कम करने के मामले पर सरकार पर दबाव डालेंगे।

और पढ़े -   नफरत को नफरत से नहीं मिटाया जा सकता, मोहब्बत की हवा चलानी होगी - किछौछवी

इस मौके पर राहुल ने मशहूर गायक मरहूम मोहम्मद रफी के पुत्र शाहिद रफी को कांग्रेस में शामिल किया। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव गुरुदास कामत, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी महासचिव मुकुल वासनिक, राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्णन विखे पाटिल तथा पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष संजय निरूपम ने भी अपने विचार व्यक्त किए। साभार: जनसत्ता


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE