नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज संसद में चुप्पी तोड़ी और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। राहुल ने काला धन, महंगाई, जेएनयू और रोहित वेमुला मामले पर सरकार पर हमला किया। राहुल ने सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि आप न जेएनयू को कुचल पाएंगे और न कुछ कर पाएंगे। हमारे धर्म में कहां लिखा है कि अध्यापकों की पिटाई की जानी चाहिए? ये कहां लिखा है कि अदालत में जेएनयू के टीचरों को पीटा जाना चाहिए?

राहुल का सरकार पर वार,

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी पर राहुल ने कहा, ‘कन्हैया ने कोई देशद्रोह की बात नहीं कही, उसे गिरफ्तार कर लिया। जिसने कहा, उसे नहीं कर पा रहे। हम वो हैं जो गलती से सीखते हैं। एक तरफ गांधी हैं और दूसरी तरफ सावरकर हैं, हम लोग गांधी वाले हैं। राहुल गांधी फिर कहते हैं कि गांधी मेरे हैं और सावरकर आपके हैं। क्या सावरकर आपके नहीं है? क्या आपने उठाकर फेंक दिया? जेएनयू के 60 फीसदी लोग गरीब हैं, दलित हैं।

राहुल ने कहा, ‘2014 में मोदी जी ने भाषण दिया था कि मैं काले धन की लड़ाई जीतूंगा। जो भी दोषी होगा उसको जेल भेजूंगा। लेकिन मोदी सरकार की ‘फेयर ऐंड लवली’ योजना से किसी को सजा नहीं होगी। अरुण जेटली जी को टैक्स दीजिए और अपना काला पैसा सफेद कीजिए।’ कांग्रेस उपाध्यक्ष ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि केंद्र ने ‘फेयर ऐंड लवली’ योजना शुरू की है जिससे ब्लैक मनी को वाइट मनी में बदल दिया जाएगा। मोदी जी ने वादा किया था कि काला धन रखने वालों को जेल में डाला जाएगा लेकिन अब इस योजना से उन्हें बचाने की तैयारी कर ली गई है।

राहुल ने कहा, ‘मोदीजी ने चुनाव के समय कहा था कि 70 रुपए की दाल का दाम कम होगा। मां बहनों को राहत मिलेगी। मोदी जी आए दाल 200 रुपए किलो हो गई। अरे मोदी जी आ गए। 35 डॉलर का कच्चा तेल हो गया लेकिन उसका बिल्कुल फायदा नहीं मिल रहा है।

मोदी जी ने वादा किया था कि 2 करोड़ रोजगार हर साल दूंगा। मेक इन इंडिया का बब्बर शेर बनाया। जहां देखों वही बब्बर शेर। मोदी जी के भाषणों में बब्बर शेर। काली घड़ी जैसा कुछ घूमता रहता है उसमें। राहुल ने पूछा कि इससे रोजगार कितना मिला ये जनता से पूछता हूं तो जवाब मिलता है।

राहुल ने मनरेगा को लेकर भी मोदी सरकार को निशाने पर लिया। नरेंद्र मोदी पीएम कैडिडेट के रूप में इस योजना की आलोचना कर चुके हैं लेकिन 2016-17 के देश के बजट में इसे अब तक की सबसे ज्यादा धनराशि आवंटित की गई है। इसी बात पर सरकार को घेरते हुए राहुल ने कहा कि मोदी जी यहां बोलते हैं मनरेगा बेकार योजना है। ये सावरकर योजना नहीं है बल्कि महात्मा गांधी रोजगार योजना है। मोदी जी कहते हैं कि बहुत बेकार योजना है। मैं इसलिए नहीं हटाऊंगा।

राहुल ने जेटली से अपनी कथित बातचीत का जिक्र किया और कहा कि कल जेटली जी मेरे पास आए और कहा कि मनरेगा से बेहतरीन योजना कोई नहीं है। मैंने कहा कि ये बात आप अपने बॉस से क्यों नहीं बोलते। वो चुप हो गए। मैं जानता हूं कि आप सब डरते हो उनसे लेकिन कभी कभार पूछना चाहिए। (ibnlive)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें