रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर रघुराम राजन के पिता ने सुब्रमण्यम स्वामी के बयानों पर कहा कि यदि उनके बेटे पर हमलों की शुरुआत के दोरान ही सरकार ने प्रतिक्रिया दे दी होती तो वह दूसरा कार्यकाल छोड़ने का फैसला न लेते.

एक अंग्रेजी अख़बार से बातचीत में उन्होंने कहा कि मैं महसूस करता हूं कि यदि सरकार ने राजन पर हमलों के जवाब में पहले ही प्रतिक्रिया दी होती तो शायद वह 4 सितंबर को आरबीआई छोड़ने का फैसला न लेते.

और पढ़े -   गोरखपुर के एडीएम के तार ISI जुड़े होने का संदेह , एटीएस करेगी पूछताछ

राजन की माता मिथिली ने कहा, इन बातों को लेकर राजन मुझ पर नाराज हो सकता है. लेकिन व्यक्तिगत हमले आहत करते हैं. उन्होंने आगे कहा पूरी दुनिया इसे देख रही है कि किस तरह से राजन पर हमले किए गए और उन्हें विवादों में घसीटा गया. कोई भी उनकी नीतियों और काम करने के तरीकों पर सवाल उठा सकता है, लेकिन किसी पर व्यक्तिगत तौर पर हमले करना सही नहीं है. देशभक्ति पर सवाल उठाना सही नहीं है.

और पढ़े -   केरल में 'लव जिहाद' मामले की जांच करेगी NIA, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश

सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा देशभक्ति पर उठाये गए सवाल पर नाराजगी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि वह भारत में ही पैदा हुए थे और कुछ बेहतर करने के लिए ही भारत लौटकर आए. अब हमारे लिए जीवन आसान नहीं रह गया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE