नई दिल्ली। ‘लातेहर के बालूमाथ में गोकथा सालों से हो रही है। यहां सक्रिय गोरक्षा समिति ने मुसलमानों से बार-बार कहा है कि वे मवेशियों का कारोबार छोड़ दें।’ कांग्रेसी प्रतिनिधि मंडल को ये बयान मजलूम अंसारी की विधवा ने दिया है। इस दल की अगुवाई कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुखदेव भगत कर रहे थे।

सुखदेव भगत ने कहा कि कोई भी धर्म गोरक्षा के नाम पर हत्या की इजाज़त नहीं देता। मजलूम अंसारी और 15 साल के इब्राहिम ही अपने परिवार के लिए कमाते थे। इस हत्या से पता चलता है कि हत्यारों के मन में इंसानों की ज़िंदगी की कोई अहमियत नहीं। भगत ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर सिर्फ एक ख़ास समुदाय को निशाना बनाया जा रहा है

कांग्रेसी नेता शमशेर आलम ने दावा किया कि हमला सुनियोजित तरीके से किया गया है। लूटपाट के इरादे से हमला करने वाले अपराधी माल लूटकर भाग जाते हैं। वे किसी को मारकर पेड़ पर नहीं टांगते।
पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी भी रविवार को बालूमाथ पहुंचे। मरांडी ने कहा, मुझे ग्रामीणों ने बताया कि पिछले छह महीने में भगवा संगठनों की गतिविधियां बढ़ी हैं। भगवा संगठनों के कार्यकर्ताओं ने कारोबार करने वालों को पांच बार धमकी दी थी कि वे इस काम को छोड़ दें। अब यहां लोग ख़ौफ़ में जीते हैं।
वहीं झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने कहा कि दोबारा ऐसी वारदात से बचने के लिए ज़िला प्रशासन से सतर्क रहने के लिए निर्देश दिया गया है लेकिन जानवरों को दूसरे राज्य में ले जाना प्रतिबंधित है।
सीनियर कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आज़ाद ने इस मामले में पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। उन्होंने कहा है कि किसी ना किसी बहाने मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है।
चिट्ठी में लिखा है, ‘ये दुख की बात है कि केंद्र में बीजेपी सरकार बनने के बाद धमकी, मारपीट और हिंसक भीड़ की घटनाएं देखने को मिल रही हैं। जानबूझकर एक ख़ास विचारधारा के विचार को बढ़ावा दिया जा रहा है। लोकतंत्र, बहुलता, सामाजिक सौहार्द और शांति के साथ-साथ देश के विकास के लिए ये एक गंभीर चुनौती है। (Live India)
और पढ़े -   दलित नेता मानकर ने भगवद गीता को बताया घटिया, कहा - कचरे के डब्बे में फेंक देना चाहिए

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE