नई दिल्ली | बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के महात्मा गाँधी को चतुर बनिया बताने पर घमासान मच गया है. विरोधी पार्टियों ने अमित शाह के खिलाफ मोर्चा खोलते मांग की है की वो अपने बयान के लिए माफ़ी मांगे. इसके अलावा पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने भी अमित शाह की आलोचना करते हुए उनके बयान की निंदा की है. उधर मिली जानकारी के अनुसार अमित शाह ने अपने ब्यान पर माफ़ी मांगने से इनकार कर दिया है.

दरअसल शुक्रवार को अमित शाह ने रायपुर में पार्टी पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा था की महात्मा गाँधी बड़े दूरदर्शी थे. बड़ा चतुर बनिया था वो , उसको पता था की आगे क्या होने वाला है, इसलिए उसने कांग्रेस को भंग करने के लिए कहा था. वो जनता था की कांग्रेस की कोई विचारधारा नही है , कोई सिद्धांत नही है. यह केवल आजादी प्राप्त करने का एक साधन मात्र है. उस समय महात्मा गाँधी की बात नही मानी गयी लेकिन अब खुद कांग्रेस के लोग इसे बिखरने में लगे हुए है.

जैसे ही अमित शाह का यह बयान सामने आया , देश में हंगामा मच गया. कांग्रेस, जेडीयु, आरजेडी समेत सभी विपक्षी पार्टियों ने उनके इस बयान की आलोचना की. कांग्रेस ने तो एक कदम आगे बढ़ते हुए यहाँ तक कह दिया की इसके लिए माफ़ी भी नाकाफी नही है. उधर चारो और से हो रही आलोचनाओ पर अमित शाह ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा की मैंने किसी भी गलत सन्दर्भ में वो बात नही कही थी. जो लोग कार्यक्रम में मौजूद थे वो लोग जानते है की मैंने किस सन्दर्भ में महात्मा गाँधी के लिए चतुर बनिया शब्द का इस्तेमाल किया था.

अमित शाह से जब यह पुछा गया की क्या वो अपने बयान पर माफ़ी मांगेंगे तो उन्होंने इससे इनकार कर दिया. उधर मशहूर पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने अमित शाह के बयान पर ट्वीट कर कहा,’ इस बार भाषा के जरिये महात्मा गाँधी की हत्या की गयी है.’ राजदीप के इस ट्वीट पर बहुत लोगो ने प्रतिक्रिया दी. एक शख्स ने पुछा की किसी के लिए भी बनिया शब्द का इस्तेमाल करना गलत नही है. इस पर राजदीप ने जवाब दिया की कुछ गलत नही है लेकिन इस बारे में मैं स्पष्ट नही हूँ की महात्मा गाँधी के लिए किसी बड़े का सार्वजानिक भाषण के दौरान ऐसी भाषा का इस्तेमाल करना सर्वथा उचित है या नही.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE