हैदराबाद यूनिवर्सिटी में फिर उग्र प्रदर्शन, करीब 70 छात्रों को हिरासत में लिया गयाछात्रों के प्रदर्शन को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा।
हैदराबाद: पीएचडी के छात्र रोहित वेमुला की खुदकुशी मामले में पिछले कुछ माह से छात्रों की उग्र गतिविधियों के केंद्र रहे हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में बुधवार सुबह विद्यार्थियों ने फिर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कैंपस के गेट को तोड़ दिया, उसके बाद पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा।

और पढ़े -   इरान के सर्वोच्च नेता ने भारत को बताया शोषक और तानाशाह, दुनिया के मुस्लिमो से की कश्मीरियों का साथ देने की अपील

यह झड़प उस समय हुई जब यूनिवर्सिटी का शीर्ष पैनल एक लोकपाल ( ऑम्बुड्ज़्मैन) , एक भेदभाव निरोधक अधिकारी और समान अधिकार सेल के लिए नियुक्ति पर चर्चा कर रहा था। छात्रों की मांग है कि वाइस चांसलर अप्पा राव को लोकपाल के चयन की प्रक्रिया से अलग रखा जाए क्योंकि रोहित के खुदकुशी मामले में वे (वीसी) खुद आरोपों के घेरे में हैं। प्रदर्शन कर रहे छात्र वीसी अप्पा राव को हटाने की मांग कर रहे हैं। भारी सुरक्षा और बैरिकेड्स के बावजूद इन छात्रों ने राव के ऑफिस में प्रवेश करने की भी कोशिश की। कैंपस का गेट तोड़ने पर उन्‍हें हिरासत में लिया गया है। मामले में करीब 70 छात्रों को हिरासत में लिया गया है।

और पढ़े -   ट्रेन में नफरत की भेंट चढ़े जुनैद के पिता ने मोदी से पुछा, देश में मुसलमानों के प्रति इतनी नफरत क्यों?

छात्रों के समूह यूनिवर्सिटी कैंपस और इसके बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं। उनकी मांग है कि कैंपस को सबके लिए खुला रखा जाए। गौरतलब है कि पीएचडी स्कॉलर रोहित वेमुला ने 17 जनवरी को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। समर्थकों ने मामले में यूनिवर्सिटी प्रशासन पर दलित वर्ग से संबंधित रोहित के साथ भेदभाव का आरोप लगाया था।

और पढ़े -   योगी अदित्यनाथ ने पेश किया 100 दिन का रिपोर्ट कार्ड कहा, सरकार के काम से हूँ संतुष्ट

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE