यूपी के सहारनपुर की घटना के बाद से ही प्रदेश की योगी सरकार द्वारा एक तरफा कारवाई के चलते आज लाखों की तादाद में दलितों देश की राजधानी में जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया. ये सभी सहारनपुर में दलितों को न्याय दिलाने और भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर रावण के खिलाफ झूठे केस दर्ज करने के खिलाफ एकत्रित हुए हैं.

नेशनल दस्तक की रिपोर्ट के अनुसार, जंतर-मंतर पर लगभग दो लाख से भी ज्यादा लोग पहुंचे थे. रिपोर्ट में कहा गया कि भीम आर्मी के चंद्रशेखर आजाद रावण युवाओं के साथ दिल्ली में अपनी गिरफ्तारी दे सकते हैं. चंद्रशेखर आजाद (रावण) ने जंतर मंतर पहुंचकर संविधान के दायरे में रहकर मनुवाद के विरुद्ध संघर्ष का ऐलान किया.

उन्होंने कहा कि बाबा साहेब ने कहा था कि मैं लड़ाई लड़ रहा हूं क्योंकि मेरा समाज सो रहा है। लेकिन मैं यहां देख रहा हूं कि मेरा समाज जाग चुका है. इसके साथ ही चंद्रशेखर ने कहा कि मुझे आज गिरफ्तार कर लिया जाएगा. लेकिन इस आंदोलन को जारी रखने के लिए कुछ लोग हैं जिनकी देखरेख में आंदोलन चलेगा.

उन्होंने कहा कि मेरे जेल जाने के बाद विजय रतन और रवि कुमार गौतम भीम आर्मी और युवा शक्ति के संचालक होंगे. आपको बता दें कि रवि कुमार गौतम चंद्रशेखर के भाई हैं. वहीं उन्होंने जयभगवान जाटव का नाम लेते हुए कहा कि ये कमेटी के संरक्षक हैं.

रैली को संबोधित करते हुए चंद्रशेखर ने भावी योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि अगली 23 तारीख को पूरा दलित समाज सहारनपुर के दोषियों को जेल में बंद करने के लिए देशव्यापी आंदोलन करेगा. साथ ही भीम आर्मी के सदस्यों की रिहाई की मांग की जाएगी.

चंद्रशेखर ने कहा कि यदि दलित समाज की शर्त को नहीं माना गया तो देशव्यापी स्तर पर दलित हिंदू धर्म को त्यागकर बौद्ध धर्म अपना लेंगे और यह संख्या इतनी बड़ी होगी कि कच्छेधारी मनुवादियों की हलक सूख जाएगी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE