नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) के डिप्टी एसपी तंजील अहमद की हत्या के मामले में 65 घंटे से ज्यादा की जांच के बाद यूपी पुलिस का कहना है कि तंजील अहमद की हत्या आपसी रंजिश की वजह से की गई. दूसरी ओर, एनआईए इस मामले में आईएसआईएस, इंडियन मुजाहिदीन और सिमी की भूमिका को लेकर जांच कर रही है.

तंजील अहमद की हत्या आपसी रंजिश का परिणाम : एडीजी

यूपी पुलिस के एडीजी दलजीत चौधरी के मुताबिक पूरा मामला आपसी रंजिश का है.  दलजीत चौधरी के अनुसार- ‘जहां तक हमारी जांच का सवाल है, यह पूरी तरह से आपसी रंजिश का मामला लगता है. अभी जांच जारी है. हमारी एटीएस की टीम आतंकी कनेक्शन के बारे में भी तफ्तीश कर रही है, लेकिन जो अब तक पता चला है, उससे यही लगता है कि यह आपसी रंजिश में की गई हत्या थी.’ हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि इस आपसी रंजिश की वजह क्या थी.

और पढ़े -   जनधन योजना से लेकर मेक इन इंडिया जैसी मनमोहन सरकार की 28 योजनाओ को मोदी ने नाम बदलकर किया शुरू ?

ये सवाल अब भी अनुत्तरित

हालांकि एडीजी दलजीत चौधरी ने तंजील अहमद की हत्या को आपसी रंजिश का परिणाम बताया है, लेकिन इस मामले में कुछ सवाल हैं, जो अब भी अनुत्तरित हैं, जैसे-

-पहला, तंजील अहमद शादी में बिना किसी सिक्यूरिटी और सर्विस रिवाल्वर के गए थे और देर रात बिन खौफ के ही निकल गए थे. अगर तंजील अहमद को आपसी रंजिश या दुश्मनी का खतरा होता तो क्या वे इस तरह से बिना किसी सुरक्षा के बाहर निकलते.

और पढ़े -   सरकारी मदद देने की एवज में राजस्थान की बीजेपी सरकार ने लोगो के घरो के बाहर लिखा, 'मैं बेहद गरीब हूँ'

-दूसरा, वे खुद राष्ट्रीय जांच एजेंसी में थे और अगर उन्हें किसी से खतरा था, तो वे ऐसा कदम कैसे उठा सकते थे.  यानी उन्हें ऐसा कोई खतरा नहीं था, जिसके बारे में वे पहले से भलीभांति जानते हों.

NIA के मुताबिक IS, IM या सिमी का हाथ हो सकता है

दूसरी ओर, इंटेलिजेंस एजेंसियां कई तरह से सुराग ढूंढने में लगी हैं. सूत्रों की मानें तो तंजील की हत्या के पीछे इंडियन मुजाहिदीन (IM) के स्लीपर सेल और आईएसआईएस के रोल की भी जांच की जा रही हैं.

और पढ़े -   असम में पाकिस्तान का झंडा फहराने पर एक शख्स की जमकर हुई पिटाई, झंडे पर पेशाब करने के लिए भी डाला दबाव

एजेंसियां इस बात की भी जांच कर रही हैं कि क्या आईएसआईएस के हैंडलर्स भारत में उनके कमांडर शफी अरमर की मदद से आईएम के स्लीपर सेल से कॉन्टैक्ट में थे? इंटेलिजेंस एजेंसियों ने वेस्टर्न यूपी के कुछ लोगों की बातचीत भी टेप की है.

सूत्रों के मुताबिक, इस बात की संभावना है कि लोकल क्रिमिनल्स को स्लीपर सेल से मर्डर को अंजाम देने की बात कही गई हो. एक अधिकारी के मुताबिक, ‘हम इस बात की जांच कर रहे हैं कि बाहर से कोई इस तरह का मैसेज तो नहीं आया.’ (hindi.pradesh18.com)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE