मुरथल (हरियाणा)। हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान मुरथल में दस महिलाओं से गैंगरेप की कथित वारदात की जांच शुरू हो गई है। इस बीच, एक ट्रक चालक सामने आया है, जिसने मौके का खौफनाक मंजर बयां किया है।

ट्रक चालक निरंजन ने बताया है कि उनके सामने महिलाओं से गलत हरकतें हुईं। उनके कपड़े फाड़े गए। यह 1984 के दंगों से भी भयावह माहौल था।

और पढ़े -   दिल्ली में सैकड़ों साल पुरानी दरगाह और मस्जिदों की इमारतों में तोड़फोड़

निरंजन पुलिस को बयान देने को भी तैयार हैं। आंदोलन के दौरान 22 फरवरी को वे भी जाम में फंस गए थे। उनके ट्रक को आग लगा दी गई थी। इस दौरान उन्होंने कई खतरनाक मंजर देखे।

बकौल निरंजन, मैं 1984 के दंगे देख चुका हूं, लेकिन इतना शर्मनाक मंजर नहीं देखा। महिलाएं चिल्ला-चिल्ला कर भाग भी रही थीं। उनके साथ पुरुष भी थे लेकिन अपराधी इतनी संख्या में थे कि कोई कुछ नहीं कर पाया। टोलियों में उपद्रव करने वाले घूमते थे और महिलाओं को जबरन खेतों की तरफ ले जाते थे। उनके पास हथियार भी थे।

और पढ़े -   किसानों का जंतर-मंतर पर प्रदर्शन - 'देश में भिखारियों से बदतर हालात में जीने को है मजबूर'

जांच दल मौके पर पहुंचा

इस बीच, मुरथल कांड की जांच समिति आज मौके पर पहुंची। जांच दल में शामिल डीआईजी राजश्री सिंह ने बताया, ‘कपड़ों के नमूने जांच के लिए भेज दिए गए हैं, अब देखना होगा क्‍या सामने आता है। यह एक चुनौती है।’ (Naidunia)

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE