modi78

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल की विजयादशमी को बहुत खास बताते हुए कहा कि इस साल विजयदशमी का पर्व ‘बहुत खास’ होगा.

रविवार को विज्ञान भवन में आयोजित एक समारोह में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आने वाले दिनों में हम विजयादशमी मनाएंगे. इस साल की विजयादशमी देश के लिए बहुत खास है.’ साथ ही उन्होंने दशहरा पर्व के मौके पर देशवासियों को शुभकामनाएं भी दीं.

और पढ़े -   प्रधानमंत्री के बयान से गौरक्षकों के खिलाफ देश में बना माहोल: अल्पसंख्यक आयोग

इस दौरान उन्होंने जनसंघ के संस्थापकों में से एक पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जीवन तथा उनकी शिक्षाओं पर आधारित 15 पुस्तकों के संकलन का विमोचन भी किया.  मोदी ने कहा कि उपाध्याय का सबसे बड़ा योगदान इस तरह की अवधारणा में था कि संगठन आधारित राजनीतिक दल होना चाहिए ना कि कुछ लोगों द्वारा संचालित राजनीतिक संगठन.

मोदी ने आगे कहा, ‘वह (उपाध्याय) कहते थे कि देश के सशस्त्र बलों को बहुत बहुत सक्षम होना चाहिए, तभी देश मजबूत हो सकता है.’ उन्होंने कहा, ‘यह प्रतिस्पर्धा का समय है, जरूरत है कि देश सक्षम और मजबूत हो.’ पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, “बहुत कम समय में उन्होंने ऐसी विचारधारा की आधारशिला रखी, जिससे हमें विपक्ष से विकल्प (वैकल्पिक सरकार) बनने में सहायता मिली…”

और पढ़े -   पिछले तीन वर्षों में देश में धर्म और जाति के नाम पर 41 फीसदी हिंसा बढ़ी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE