“उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया है और वहां की विधानसभा निलंबित कर दी गई है। ”
उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आज सुबह संविधान के अनुच्छेद 356 के तहत इस उद्घोषणा पर हस्ताक्षर किए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कल रात हुई केंद्रीय कैबिनेट की आपात बैठक में असम में राष्ट्रपति शासन लागू करने की सिफारिश की गई। इस बैठक के लिए प्रधानमंत्री अपने असम दौरे को बीच में छोड़कर यहां आए थे। सूत्रों ने बताया कि कैबिनेट बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कल देर रात राष्ट्रपति को इस बारे में जानकारी दी।

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व योग्यता पर आधारित नहीं है और यह बात उसके कामकाज में साफ तौर पर परिलक्षित होती है। जेटली ने उत्तराखंड में जारी राजनीतिक संकट पर पीटीआई-भाषा से कहा कि यह कांग्रेस की आंतरिक समस्या है। उन्होंने कहा कि भारत में ऐसा कभी नहीं हुआ जब विधानसभा में गिरा कोई विनियोग विधेयक विधानसभा अध्यक्ष द्वारा पारित हुआ घोषित किया गया हो। केंद्रीय वित्तमंत्री ने कहा कि यह संविधान का बड़ा उल्लंघन है और इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ।

परोक्ष रूप से राज्य के मुख्यमंत्री हरीश रावत पर हमला बोलते हुए जेटली ने कहा कि आपने दी गई (बहुमत साबित करने के लिए राज्यपाल द्वारा दी गई) अवधि का इस्तेमाल लालच देने, रिश्वत देने के लिए किया। ये सब संविधान का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि कांगे्रस एक के बाद एक राज्यों में अपने कई नेताओं को खोती जा रही है क्योंकि वह ऐसे तरीके अपना रही है जो मुख्यधारा की किसी पार्टी को नहीं अपनाना चाहिए। वह कितना अवरोध पैदा कर सकती है, इससे सफलता मापी जाती है।

गौरतलब है कि उत्तराखंड सरकार कांग्रेस के 9 विधायकों द्वारा बगावत करने के कारण संकट में है और मुख्यमंत्री हरीश रावत को कल यानी सोमवार तक अपना बहुमत साबित करना है। इससे पहले शनिवार की रात ऐसी खबर आई थी विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने इन सभी नौ विधायकों की सदस्यता रद्द कर दी है हालांकि इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की गई थी। रविवार को सभी निगाहें विधानसभा कार्यालय पर टिकी रहीं और इन विधायकों के वकील भी वहीं डेरा जमाए हुए हैं।

शनिवार को हरीश रावत के कथित स्टिंग की सीडी सामने आने के बाद केंद्रीय कैबिनेट की आपात बैठक शनिवार की रात प्रधानमंत्री निवास पर हुई थी। तब कहा जा रहा था कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लग सकता है मगर रात में इसकी घोषणा नहीं हुई। अभी भी सूत्रों के हवाले से राष्ट्रपति शासन की खबर आई है। कुछ देर में खबर की पुष्टि होने की उम्मीद है। (outlookhindi)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें