लुधियाना | पंजाब में देश विरोधी ताकते एक बार फिर सर उठाने लगी है. हाल ही में पंजाब के करीब 40 जगहों पर आजादी की मुहीम को हवा देने के लिए कुछ पोस्टर लगाए गए है. इन पोस्टर में खालिस्तान समर्थको ने जनमत संग्रह की मांग की है. ये सभी पोस्टर रेफरेंडम-2020 के नाम से पंजाब के कई शहरो और कस्बो में चिपकाए गए है. इसके अलावा सिख फॉर जस्टिस के नाम से फेसबुक पर एक पेज भी बनाया गया है.

इसके जरिये पंजाब की आजादी के लिए मुहीम चलायी जा रही है. यही नही इस पेज के प्रोफाइल पिक्चर पर भी रेफरेंडम 2020 का पोस्टर लगाया गया है. इस पोस्टर में जनरैल सिंह भिंडरावाला और सिखों की सर्वोच्च संस्था श्री अकाली तख़्त साहिब की तस्वीरो का इस्तेमाल किया गया है. पंजाब के लगभग सभी बड़े शहरों अमृतसर, लुधियाना, बरनाला, संगरूर, बठिंडा, मुक्तसर इन पोस्टर्स को लगाया गया है.

और पढ़े -   ईद-उल-अजहा पर मुसलमान बेखौफ होकर करें कुर्बानी: मौलाना अरशद मदनी

उधर श्री हिन्दू तख़्त ने पंजाब में उठती इस बगावत की आवाज को दबाने की मांग की है. श्री हिन्दू तख़्त के प्रदेश प्रचारक वरुण मेहता ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा की यह सब पंजाब में आपसी भाईचारे में दरार डालने के लिए किया जा रहा है जिसे हिन्दू तख़्त कभी सफल नही होने देगा. हम सरकार को अल्टीमेटम देते है की अगर 72 घंटे के दौरान इन पोस्टर्स को पंजाब के सभी शहरो से नही हटाया गया तो हम पुरे प्रदेश में धरना प्रदर्शन और आन्दोलन करेंगे.

और पढ़े -   भारत के स्वतंत्रता दिवस पर शाहिद अफरीदी ने लिखा कुछ ऐसा की जीत लिया हिन्दुस्तानियों का दिल

वरुण मेहता ने आगे कहा की वो पंजाब के डीजीपी से मिलकर मांग करेंगे की सिख फॉर जस्टिस के नाम से चल रहे सभी फेसबुक पेज को बंद करवाया जाए और पंजाब की हवा में जहर घोलने वाले इस संगठन के सभी सदस्यों को गिरफ्तार किया जाए. उधर पुरे मामले में बीजेपी ने भी हमलावर रुख अपनाया है. बीजेपी ने प्रेस कांफ्रेंस कर प्रदेश से इन पोस्टर्स को हटाने की मांग की है. ऐसा नही होने पर बीजेपी खुद इन पोस्टर्स को हटाना शुरू कर देगी.

और पढ़े -   गोरखपुर के बाद छत्तीसगढ़ में ऑक्सीजन की कमी ने ली 3 बच्चो की जान

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE