post-office-employee-arrested-by-police-for-spying-for-pakistan

राजस्थान के पोकरन में पोस्ट ऑफिस के तीन कर्मचारियों को पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. तीनों भारतीय सेना के मूवमेंट से संबंधित सूचनाएं महज ढाई हजार रुपये में आईएसआई को लीक किया करते थे. सुरक्षा एजेंसियां उनसे पूछताछ कर रही हैं.

जानकारी के मुताबिक, इंटेलिजेंस ब्यूरों की खुफिया रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई करते हुए राजस्थान पुलिस ने पोकरन पोस्ट ऑफिस में काम करने वाले पोस्ट मास्टर किशन पाल, पोस्ट ऑफिस इंस्पेक्टर वासुदेव मेघवाल और कंप्यूटर ऑपरेटर नरेंद्र शर्मा को गिरफ्तार कर लिया है.

और पढ़े -   मुस्लिमो पर हो रहे हमलो और मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ दिल्ली में हजारो लोग हुए एकत्र, किया विरोध प्रदर्शन

सूत्रों के मुताबिक, तीनों कर्मचारी पोस्ट ऑफिस में भारतीय सेना से संबंधित आने वाले पोस्ट से सूचनाएं लीक किया करते हैं. उन पर ढाई हजार रुपये में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने का आरोप है. वे सेना के मूवमेंट की खबरें भी दिया करते थे.

बताते चलें कि आईएसआई के लिए जासूसी के आरोप में अभी तक कई लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं. इसमें भारतीय सेना के कई जवान भी शामिल हैं. पिछले साल दिसंबर में पोकरन में ही जासूसी के आरोप में एक पटवारी गोरधन सिंह राठौड़ को गिरफ्तार गया था.

और पढ़े -   2016 में 11,400 तो 2015 में आंकड़ा 12,602 किसानों ने की आत्महत्या: केन्द्रीय कृषि मंत्री

सेना में नौकरी कर चुका ये पटवारी सेना के युद्धाभ्यास सहित कई तरह की गोपनीय सामरिक सूचनाएं आईएसआई को भिजवाता था. वह करीब दो साल से आईएसआई के संपर्क में था. रिटायरमेंट के बाद वह राजस्थान के खेतोलाई गांव में पटवारी बन गया था.

उसी समय पोकरन में एक और जासूस को गिरफ्तार किया गया, जो बीएसएफ के फायरिंग रेंज के महत्वपूर्ण स्थानों की फोटो खींच रहा था. उसके पास से फायरिंग रेंज की कई संवेदशील तस्वीरें बरामद हुई थीं. हनी ट्रैप में भी फंसकर जासूसी के भी कई केस सामने आ चुके हैं

और पढ़े -   गोवा की बीजेपी सरकार राज्य में बीफ की कमी नही होने देगी, मनोहर परिकर ने दिलाया विश्वास

खबर – आजतक 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE