अलवर | राजस्थान के अलवर में गौरक्षा के नाम पर हुई पहलु खान की मौत की जांच पूरी हो गयी है. सीबी-सीआईडी ने मामले की जांच पूरी कर इसकी रिपोर्ट पुलिस का सौंप दी है. हैरान कर देने वाली बात यह है की जांच में उन सभी आरोपियों को क्लीन चिट दी गयी है जिनका नाम पहलु खान ने मरने से पहले पुलिस को बताया था. जांच रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने छह आरोपियों को निर्दोष घोषित करते हुए इन पर से पांच हजार रूपए इनाम को भी वापिस ले लिया गया है.

इसी साल अप्रैल में राजस्थान के अलवर में पहलु खान की कथित गौरक्षको ने पीट पीटकर हत्या कर दी थी. यह घटना उस समय हुई जब पहलु खान और उसके परिवार के कुछ सदस्य जयपुर से गाय खरीदकर हरियाणा अपने गाँव जा रहे थे. जैसे ही ये लोग अलवर पहुंचे , इन पर कथित गौरक्षको ने हमला बोल दिया. इसमें पहलु खान को काफी गंभीर चोट आई जिसकी वजह से दो दिन बाद उसने दम तोड़ दिया.

मरने से पहले पहलु खान ने छह लोगो के नाम पुलिस को बताये थे. इनमे हुकुम चंद, नविन शर्मा, जगमाल यादव, ओम प्रकाश, सुधीर और राहुल सैनी का नाम शामिल था. पहलु के बयान के आधार पर पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ पांच हजार रूपए का इनाम भी रखा था. बाद में मामले की जांच पुलिस से हटाकर सीबी-सीआईडी को सौप दी गयी. अपनी जांच में सीबी-सीआईडी ने कुछ पुलिसकर्मी और एक गौशालाकर्मी के बयान के आधार पर उन सभी छह आरोपियों को निर्दोष पाया.

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए अलवर के एसपी राहुल प्रकाश ने कहा की सीबी-सीआईडी की जांच में छह आरोपियों निर्दोष पाए गए है इसलिए इनके ऊपर की गयी इनाम की घोषणा भी वापिस ली जाती है. बताया जा रहा है की लोकेशन और कॉल रिकॉर्ड की जांच करने पर यह साबित हुआ की ये लोग घटनास्थल पर मौजूद नही थे.

उधर सीबी-सीआईडी की जांच रिपोर्ट को धोखा बताते हुए पहलु खान के बेटे ने कहा की हम दोबारा जांच की मांग करेंगे. हमारे साथ धोखा हुआ था. हमने उस दिन इन सभी लोगो के नाम सुने थे. हमारी लड़ाई अभी खत्म नही हुई है, जब तक इन सभी आरोपियों को सजा नही मिलेगी हम यह लड़ाई जारी रखेंगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE