chief

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया टीएस ठाकुर ने लाल किले से दिए गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण से निराश हुए हैं. उन्होंने पीएम के भाषण में एक बेहद जरूरी मुद्दे का जिक्र नहीं करने पर निराशा जताई हैं. उन्‍होंने कहा कि वे उम्‍मीद कर रहे थे कि पीएम मोदी जजों की नियुक्ति को लेकर बोलेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

ठाकुर ने कहा, ”मैंने पीएम का डेढ़ घंटे का भाषण सुना. मुझे उम्‍मीद थी कि वे जजों की नियुक्ति को लेकर बोलेंगे. लेकिन पीएम ने कुछ नहीं कहा. कितने सारे केस पेडिंग पड़े हैं. मैंने जजों की नियुक्ति को लेकर सरकार से लगातार बात की है. उन्होंने आहे कहा कि अंग्रेजों के जमाने में 10 साल में इंसाफ मिल जाता था लेकिन अब तो 100 साल भी कम है.

जस्टिस ठाकुर ने आखिर में एक शायरी के जरिए मोदी सरकार पर तंज कसा. मो. रफी सौदा की एक गजल की पंक्तियां दोहराते हुए उन्होंने कहा- गुल फेंके हैं औरों की तरफ बल्कि समर भी, ऐ खाना बर अंदाज ए चमन कुछ तो इधर भी. इस दौरान कार्यक्रम में केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद भी मौजूद थे.

रविशंकर प्रसाद ने इस बारे में कहा, ”न्‍यायपालिका को लेकर हमारा कमिटमेंट पूरा है. हम इस प्रक्रिया को पूरा करने के अंतिम चरण में हैं.” उन्‍होंने कहा कि हम न्‍यायपालिका के साथ मिलकर काम करेंगे। गुड गवर्नेंस के लिए न्‍यायपालिका का मजबूत होना जरूरी है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें