नई दिल्ली: पिछले लंबे समय से विपक्ष का प्रहार झेल रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अपने नेताओं को यह साफ कर दिया है कि सरकार का मंत्र सिर्फ ‘विकास’ है। प्रधानमंत्री ने अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं से रविवार को साफ कहा कि बेकार के मुद्दों में न उलझें और अपने ‘विकास’ के एजेंडे पर चलते रहें।
PM ने ली
बैठक में प्रधानमंत्री मोदी पार्टी के बड़बोले नेताओं को फटकार लगाते हुए कहा, ”हमें एक ही मूल मंत्र को लेकर आगे चलना है- विकास, विकास और विकास।” प्रधानमंत्री ने कहा कि विपक्ष के बहकावे में आकर कुछ नेता चर्चा की पूरी दिशा ही बदल देते हैं। पीएम ने कहा कि जिसके पास एक करोड़ रुपया नहीं होता वे भी एक करोड़ का इनाम घोषित कर देता है फिर बहस विकास से हटकर इन मुद्दों पर शुरू हो जाती है।
प्रधानमंत्री ने अपने बयानों की वजह से विवादों में रहने वाले नेताओं को फटकार लगाते हुए कहा कि टीवी कैमरे आपको इसलिए नहीं खोजते हैं कि आप बहुत महत्वपूर्ण हैं बल्कि इसलिए कि आप जो कहते हैं उससे सुर्खियां बनती हैं। नकारात्मक ताकतों को हराने के लिए बौद्धिक क्षमता और जानकारी बढ़ाने की जरूरत है।
राष्ट्रवाद को पार्टी की ताकत बताते हुए पीएम ने कहा कि उनकी सरकार के 22 महीने के कार्यकाल में अब तक राजनीतिक और आर्थिक भ्रष्टाचार का कोई भी आरोप नहीं लगा है और भाजपा कार्यकर्ताओं को चाहिए कि वे विपक्ष द्वारा उठाए जा रहे व्यर्थ के मुद्दों में न फंसकर पार्टी के हित को आगे बढ़ाते रहें। (इंडिया संवाद)
और पढ़े -   इशरत जहां एनकाउंटर मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दो आईपीएस आधिकारी को नौकरी से हटाया

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE