नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिला जनप्रतिनिधियों के दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन के समापन समारोह में आज कहा, पुरुष कौन होते हैं महिलाओं को सशक्त करने वाले? पीएम मोदी ने सभी जन प्रतिनिधि महिलाओं को धन्यवाद भी किया। कार्यक्रम में महिला सांसद और विधायक भी शामिल थीं।

जनप्रतिनिधियों के सम्मेलन में पीएम बोले- पुरुष कौन होते हैं महिलाओं को सशक्त करने वाले?पीएम मोदी के संबोधन के मुख्य अंश :

– तकनीक किसी व्यक्ति की जिन्दगी में बड़ा रोल निभाती है। मैं सोचता हूं कि पुरुषों के मुकाबले महिलाएं तकनीक को ज्यादा सक्षम तरीके से अपना पाती हैं।

– तकनीक महिलाओं के लिए कोई नई चीज नहीं है लेकिन इस पर जोर देना जरूरी है कि तकनीक का प्रयोग संवाद और कनेक्टिविटी में कैसे किया जाए।

– राष्ट्र नागरिकों से मजबूत होता है और नागरिक मांओं से मजबूत होते हैं। महिलाएं राष्ट्र के निर्माण में पीढ़ियों से योगदान दे रही हैं।

– क्या हम महिलाओं को सशक्त करने के लिए ई-प्लेटफॉर्म नहीं बना सकते?

– यह जरूरी नहीं कि संसद में हरेक को सबकुछ पता हो लेकिन जिसमें रुचि है उसके बारे में पता होना चाहिए।

– जो सशक्त हैं, उनका सशक्तीकरण कौन करेगा। पुरुष होते कौन हैं जो सशक्त करेंगे?

– नहीं जानता कि किसी ने कोई सर्वे किया है या नहीं, लेकिन सफल महिलाओं का प्रतिशत सफल पुरुषों की तुलना में अधिक होगा।

– जब मल्टी-टास्किंग की बात आती है तो कोई भी महिलाओं की बराबरी नहीं कर सकता। ऐसी होती है महिलाओं की ताकत। हमें इस पर गर्व जरूर होना चाहिए।

– महिलाओं के पास बेमिसाल शक्ति होती है। शक्ति उन्हें ईश्वरप्रदत्त होती है।

– महिला नेतृत्व ने बड़े परिवर्तन किए। (NDTV)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें