म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों पर हो रहे अत्याचार को लेकर पूरी दुनिया में रोहिंग्या मुस्लिमों के साथ सहानुभूति है. दुनिया के कई देशो ने आगे आकर रोहिंग्या मुस्लिमों के लिए मदद की पेश की है. वहीँ वासुदेव कुटुम्बकम का दावा करने वाले भारत रोहिंग्या मुस्लिमों को अकाल मौत देना चाहता है.

दरअसल, जारी हिंसा के बीच शरणार्थी के रूप में रह रहे रोहिंग्या मुस्लिमों को भारत ने निकालने की तैयारी शुरू कर दी है. इसी बीच आरएसएस ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर अपील की है कि जल्द से जल्द रोहिंग्या मुस्लिमों को देश से वापस भेज देना चाहिए.

और पढ़े -   बड़ी खबर: 600 करोड़ में बिका एनडीटीवी, बीजेपी नेता अजय सिंह होंगे नए मालिक

गोविंदाचार्य ने कहा कि ‘राजधानी दिल्ली में रोहिंग्या मुस्लिमों की जनसंख्या बढ़ती जा रही है. ऐसे में फिर से विभाजन जैसे हालत हो रहे हैं. दिल्ली में देश की जनता भूखी मर रही है. देश की जनता को उसका अधिकार नहीं मिल रहा है. साथ ही रोहिंग्या मुस्लिमों के सबंध आतंकी संगठनों से जोड़े गए.

याचिका में कहा गया कई रोहिंग्या मुस्लिम अल क़ायदा से मिले हुए हैं. ऐसे में अल क़ाएदा उनका इस्तेमाल कर देश में कहीं भी हमले करवा सकता है. देश की सुरक्षा सबसे पहले है. किसी भी अवैध शरणार्थी को निकलने की अनुमति केंद्र सरकार को देनी होती है. ऐसे में इस पर जल्द फैसला करना चाहिए.

और पढ़े -   पीएम मोदी का ट्व‍िटर पर गाली देने वालों को फॉलो करने का सिलसिला अब भी जारी

ध्यान रहे केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्य सरकारों को एडवाइजरी जारी कर कहा है कि वे रोहिंग्या मुसलमानों की पहचान करें और उन्हें वापस भेजने की तैयारी शुरू करे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE