जगदगुरु स्वामी रामभद्राचार्य के अयोध्या में मंदिर निर्माण की तारिख घोषित किये जाने को लेकर बाबरी मस्जिद के मुख्य मुद्दई हाशिम अंसारी भड़क उठे हैं. उन्होंने शुक्रवार को कहा कि जो भी लोग ऐसी बाते कर रहे हैं वे देश के दुश्मन हैं.

अंसारी ने कहा, ‘जो लोग कोर्ट के फैसले से पहले विवादित स्थान पर मंदिर बनाने की बात कर रहे हैं वो देश के कानून को पैरों तले कुचलने का काम कर रहे हैं. देश का मुसलमान कभी ये बर्दास्त नहीं करेगा. हर कीमत पर उस जगह पर बाबरी मस्जिद थी.’

हाशिम ने कहा कि अगर जबरिया लोग मंदिर बनाने का काम करेंगे तो इसका सीधा असर देश पर पड़ेगा. ‘ये लोग देश को गुलाम बनाना चाहते हैं. इन्हें मंदिर से कोई लेना देना नहीं है. अगर कोर्ट से अलग हटकर कोई फैसला लेना था तो कोर्ट क्यों गए. पहले हिन्दू पक्ष से ही लोग कोर्ट गए थे. हम तो नहीं गए और अब खुद ही अपनी बात से मुकर रहे हैं. अयोध्या मसले का हल सिर्फ कोर्ट से हो सकता है. जो लोग कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या में मंदिर बनाने की बात कर रहे हैं वो देश के दुश्मन हैं. वो देश को गुलामी की तरफ ले जाना चाहते हैं.’

हिन्दू पक्ष द्वारा अदालत के फैसले से पहले विवादित स्थल पर किसी गतिविधि के सवाल पर हाशिम ने कहा कि ‘जिसे जो करना है करे हम अदालत के फैसले का इंतज़ार करेंगे. हम कानून का सम्मान करेंगे. जो लोग देश का कानून नहीं मानते वो देश को गुलाम बनाना चाहते हैं.’

दूसरी तरफ राम भद्राचार्य के मंदिर निर्माण के बयान पर रामलला के मुख्य अर्चक आचार्य सत्येन्द्र दास ने कहा कि जिस तरह से राम भद्राचार्य ने बयान दिया है उससे लगता है कि अंदरखाने कुछ पक रह है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि राम भद्राचार्य की भविष्यवाणी पहले भी झूठी हो चुकी है. (News 18)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें