modi in Brussels

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को नोटबंदी को लेकर विपक्ष द्वारा आलोचना करने पर विपक्ष को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि सार्वजनिक जीवन में सक्रिय लोग बेशर्मी से भ्रष्टाचार और कालाधन का समर्थन कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘सार्वजनिक जीवन में मूल्यों का पतन हो रहा है…मैंने देखा है कि सार्वजनिक जीवन में सक्रिय लोग भ्रष्टाचार और कालाधन के समर्थन में भाषण दे रहे हैं. वे ढिठाई से खुलेआम ऐसा कर रहे हैं. किसी भी देश में मूल्यों में गिरावट सबसे बड़ा संकट है.’

पार्टी के दिवंगत नेता केदारनाथ साहनी जुडी किताब के विमोचन के अवसर पर पीएम मोदी ने कहा, ‘आगामी पीढ़ियां उन लोगों को माफ नहीं करेगी, जो मूल्यों के साथ विश्वासघात कर रहे हैं.’ उन्होंने केदारनाथ साहनी का उदाहरण देते हुए कहा कि सार्वजनिक जीवन में हर किसी को बेदाग होना चाहिए. उन्होंने कहा कि मूल्यों में पतन से समझौते की इस मानसिकता के खिलाफ रुख अपनाने की जरूरत है.

उन्होंने याद करते हुए कहा कि साहनी ने इंदिरा गांधी की हत्या की पृष्ठभूमि में हुए दंगे के दौरान कई सिख परिवारों को अपने घर में पनाह दी और उनकी मदद के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं और अन्य को एकजुट किया.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें