hemanta-vishwa-sharma_1463762319

दिसपुर | असम में बांग्लादेशी शर्णार्थियो पर खूब राजनीती होती है. कुछ राजनितिक दलों की तो राजनीती बंगलादेशी शर्णार्थियो के ऊपर चलती. इसी मुद्दे को उठाकर असम की सत्ता पर आसीन होने वाली बीजेपी , एक बार फिर इस मुद्दे को हवा देने के मूड में है. राज्य सरकार के एक मंत्री ने असम के लोगो से यहाँ रह रहे बांग्लादेशी शर्णार्थियो को उनका दुश्मन बताते हुए कहा की कुछ दिनों में तुम यहाँ अल्पसंख्यक हो जाओगे.

असम सरकार में मंत्री और बीजेपी के नॉर्थ ईस्‍ट डेमोक्रेटिक एलायंस (नेडा) के संयोजक हिमंत बिस्‍व शर्मा ने असम की जनता को संबोधित करते हुए कहा की अब समय आ गया है जब आपको अपने दुश्मन को चुनना होगा. सरमा बांग्लादेशी शर्णार्थियो के बारे में बात कर रहे थे. सरमा ने कहा की अब तुम्हे 1-1.5 लाख लोग या 55 लाख लोगो में से अपने दुश्मन को चुनना होगा.

शर्मा नागरिक संसोधन बिल पर सवालो के जवाब दे रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा की हम इस बिल के जरिये यह सुनश्चित करना चाहते है की पाकिस्तान और बांग्लादेश के हिन्दू , सिख, जैन, पारसी भारत में बिना किसी दस्तावेज के भारत में भ्रमण कर सके. इस बिल के जरिये उन्हें नागरिकता देने का भी प्रस्ताव है. असंम में मुस्लिम आबादी बढ़ने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा की इसी समुदाय ने कहा था की एक दिन असमिया यहाँ अल्पसंख्यक होंगे.

शर्मा के अनुसार राज्य में फ़िलहाल 11 जिले मुस्लिम बहुल है जो 2001 में छह थे. उन्होंने कहा की 2021 में हमारे छह और जिले मुस्लिम बहुल हो जायेंगे और 2031 तक बाकी सभी जिले. शर्मा से जब हिन्दू शरणार्थी और मुस्लिम शरणार्थीयो में भेदभाव करने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा की हाँ हम करते है क्योकि देश का विभाजन ही धर्म के आधार पर हुआ था.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें