उत्तरी भारत में गाय को माता मानकर गौरक्षा का दम भरने वाली भारतीय जनता पार्टी के लिए पूर्वोतर में गाय सिर्फ के जानवर है. इसलिए भाजपा ने पूर्वोतर में न केवल  गौरक्षा से किनारा किया है बल्कि बीजेपी ये भी दावा कर रही है कि उनकी सरकार में लोग बीफ रोजाना खा रहे है. हालांकि इस पर संघ परिवार की भी कोई आपति नहीं आई है.

इस मामले को लेकर भाजपा नीत नॉर्थ-ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस (नेडा) के संयोजक हिमंत विश्व शर्मा ने कहा, हम असम में सत्ता में हैं और लोग वहां रोजमर्रा के जीवन में बीफ खाते हैं. पाबंदी कहां है? राज्य सरकार का कोई पाबंदी लगाने का कोई इरादा नहीं है.

उन्होंने कहा, हमने अरणाचल प्रदेश और मणिपुर में भी ऐसा नहीं किया है और हम दोनों ही जगह सरकार में हैं. असम सरकार में मंत्री शर्मा पार्टी के प्रमुख नेता हैं जिन्हें क्षेत्र में भाजपा का विस्तार करने की जिम्मेदारी सौंपी गयी है.

बीजेपी का ये फैसला मेघालय में होने वाले अगले साल विधानसभा चुनाव को जोड़कर देखा जा रहा है. याद रहे इस इलाके में बीफ व्यापक रूप से खाया जाता है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE