मुंबई | कश्मीर के उरी में सेना कैंप पर हुए आतंकवादी हमले के बाद पुरे देश में पाकिस्तान को लेकर जो नफरत का माहौल पैदा हुआ उसके सबसे बड़े शिकार पाकिस्तानी कलाकार बने. बॉलीवुड के कुछ सेलेब्रिटी और राजनितिक लोग पाकिस्तानी कलाकारों के भारतीय फिल्मो में काम करने के खुलकर विरोध में आ गए. यहाँ तक की करन जोहर की फिल्म ‘ए दिल है मुश्किल ‘ को रिलीज़ नही होने देने की भी धमकी दी गयी.

देश में बीजेपी समर्थको ने लगातार पाकिस्तानी कलाकारों और क्रिकेटरों के खिलाफ एक माहौल बनाने का काम किया. इस काम में कुछ मीडिया ग्रुप ने भी उनका भरपूर साथ दिया. यही नही इस मामले को राष्ट्रवाद से जोड़कर भी प्रचारित किया गया. वो निर्माता-निर्देशक जिन्होंने अपनी फिल्मो में पाकिस्तानी कलाकारों को काम देने की गलती की उनको घोषित रूप से राष्ट्रद्रोही करार दिया.

वैसे भी बीजेपी , पुरे देश में अपने आप को सबसे बड़ी राष्ट्रवादी पार्टी घोषित कर चुकी है. उसके नेता और समर्थक, मीडिया और सोशल मीडिया पर इस तरह के प्रचार करते है जैसे बीजेपी को छोड़कर बाकी सभी पार्टिया राष्ट्रद्रोही कार्यो में संलिप्त है. लेकिन बीजेपी सांसद और मशहूर बॉलीवुड अभिनेता परेश रावल ने यह कहकर सबको चौका दिया की वो भारतीय फिल्मो में पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने पर प्रतिबंध का समर्थन नही करते.

परेश रावल ने पाकिस्तानी फिल्मो और धारावाहिकों की तारीफ करते हुए कहा की अगर मौका मिले तो मैं इनमे काम करने का इच्छुक हूँ. परेश रावल ने आगे कहा की मैं पाकिस्तानी फिल्मो और धारावाहिकों को पसंद करता हूँ. उनका अभिनय , कहानी, भाषा, लेखन सब कुछ अच्छा है. मैं मानता हूँ की हमारे शो उबाऊ है. पाकिस्तानी कलाकारों पर लगे प्रतिबंध पर उन्होंने कहा की कलाकार और क्रिकेटर कभी बम नही फेंकते , वो आतंकवादी नही है. बल्कि वो दो देशो के बीच पैदा हुए अंतर को पाटते है. मैं उनके ऊपर लगे बैन का समर्थन नही करता.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE