नई दिल्ली | कुलभूषण जाधव मामले में भारत को झटका लग सकता है. पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, वह कुलभूषण मामले में अंतराष्ट्रीय कोर्ट ऑफ़ जस्टिस (ICJ )का फैसला नही मानेगा. मालूम हो की ICJ ने पाकिस्तान के कुलभूषण को फांसी देने के फैसले पर रोक लगा दी थी. ICJ के फैसले को भारत अपनी बड़ी जीत के रूप में देख रहा था. लेकिन पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट्स के बाद कुलभूषण की फांसी रोकने के लिए भारत को और मसक्कत करनी होगी.

दुनिया न्यूज़ ने बताया की पाकिस्तान के अटोर्नी जनरल ने शुक्रवार को जाधव मामले पर बोलते हुए कहा की पाकिस्तान अपनी राष्ट्रिय स्थिरता से जुड़े मामले में अंतराष्ट्रीय अदालत के न्याय क्षेत्र को स्वीकार नही करेगा. अटोर्नी जनरल के इस बयान से स्पष्ट है की पाकिस्तान कुलभूषण मामले में ICJ के फैसले को नही मानेगा. अब भारत के सामने केवल संयुक्त राष्ट्र जाने का विकल्प बचा हुआ है.

दरअसल भारत ने ICJ के समक्ष जाधव मामले को उठाते हुए कहा था पाकिस्तान ने कुलभूषण को फांसी की सजा सुनाकर वियना समझौते का उलंघन किया है. भारत ने अदालत को बताया की पाकिस्तान ने जाधव की गिरफ़्तारी के कई सालो तक भारत को इसकी जानकारी नही दी. इसके अलावा जाधव को राजनीयिक सम्पर्क की भी सुविधा नही दी गयी और उसको अपने अधिकारों से वंछित रखा गया.

भारत की अपील पर ICJ ने पाकिस्तान को कुलभूषण की फांसी रोकने का आदेश दिया था. हालाँकि ICJ के पास ऐसी कोई शक्ति नही है जिससे वो किसी देश को अपना आदेश मानने पर बाध्य कर सके. ऐसी स्थिति में कोई भी देश संयुक्त राष्ट्र में जाकर ICJ के फैसले को मनवाने की अपील कर सकता है. लेकिन वहां भी पाकिस्तान को चीन की तरफ से मदद मिल सकती है. इसलिए कुलभूषण की फांसी रुकवाने के लिए भारत के पास कम ही विकल्प बचे है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE