कश्मीर में एनआईटी छात्रों पर हुए लाठीचार्ज और तनाव के चलते बनाई गई जांच कमेटी ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। रिपोर्ट में बाहरी राज्यों के छात्रों को इसके पीछे जिम्मेदार ठहराया गया है.

न्यूज़ 24 के अनुसार रिपोर्ट में कहा गया है कि गैर-कश्मीरी छात्रों ने तोड़फोड़ की और संपति को नुकसान पहुंचाया है. कैंपस में तनाव की योजना 31 मार्च से पहले बनाली गई थी. उन्होंने बाहरी राज्य से ही तिरंगा मंगवाया था. भारत-वेस्टइंडीज मैच के दौरान बाहरी राज्यों के छात्रों ने कश्मीरी छात्रों को उकसाया और फिर तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गयी. स्थानीय कश्मीरी छात्रों ने बाद में हरे झंडे फहराए जो एनआईटी कैंपस के बाहर से लाए गए.

और पढ़े -   पेट्रोल-डीजल के बेलगाम होते दाम पर केन्द्रीय मंत्री का विवादित बयान कहा, तेल खरीदने वाला नही मर रहा भूखा, सोच समझकर लिया फैसला

इस रिपोर्ट को खारिज करते हुए छात्रों का कहना है कि ये रिपोर्ट मुद्दा भटकाने के लिए है. हम वहा पर पढ़ने गए थे न कि उकसाने. बाहरी छात्रों पर इल्जाम गलत है, ये सरकार की साजिश है. छात्रों का भविष्य खराब करने की चाल है हम ऐसा नही होने देंगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE