bharat-bandh_650x400_71480301867

नई दिल्ली | नोट बंदी के फैसले का विरोध करते हुए विपक्ष ने आज भारत बंद का आह्वान किया है. हालाँकि कुछ विपक्षी दलों ने इस बंद से हाथ खिंच लिए है लेकिन फिर भी कुछ जगहों से ट्रेन रोके जाने की खबर है. बिहार के दरभंगा और लखनऊ में ट्रेन रोक प्रदर्शन किया गया. उधर केरल में राज्यव्यापी हड़ताल का फैसला लिया गया है वही बंगाल में 12 घंटे का बंद रहेगा.

मोदी सरकार के नोट बंदी फैसले के विरोध में विपक्ष ने कुछ दिन पहले 28 नवम्बर को भारत बंद का आह्वान किया था. लेकिन जैसे जैसे तारीख नजदीक आती गयी, विपक्ष में एकता टूटती दिखी. सबसे पहले टीएम्सी ने बंद से हाथ खींचते हुए कहा की वो केवल प्रदर्शन करेगी. इसके बाद जेडीयु ने भारत बंद से अपने आपको बिलकुल अलग कर लिया. समाजवादी पार्टी ने भी बंद की जगह प्रदर्शन करने का फैसला किया.

और पढ़े -   अमित शाह ने नरोदा गाम दंगे मामले में किया माया कोडनानी का बचाव

उधर कांग्रेस ने भी कल प्रेस कांफ्रेंस कर मीडिया को बताया की वो भारत बंद नही कर रही बल्कि नोट बंदी के लिए विरोध प्रदर्शन करेगी. उधर बंद का समर्थन कर रही सीपीएम् ने बिहार के दरभंगा में ट्रेन रोक विरोध प्रदर्शन किया. वही लखनऊ में समाजवादी पार्टी ने भी ट्रेन रोककर अपना विरोध दर्ज कराया. इसके अलावा बंगाल में 12 घंटे बंद का आह्वान किया गया. फिलहाल बंगाल में सडको पर गाडिया बंद है लेकिन हालात सामान्य है.

और पढ़े -   गाय पर आस्था रखने वाले लोग हिंसा नहीं करते: मोहन भागवत

उधर केरल में सत्ताधारी CPM ने राज्यव्यापी बंद करने का फैसला किया है. केवल बैंक, शादी, अस्पताल को बंद से दूर रखा गया है. फ़िलहाल पुरे देश में बंद से हालात सामान्य बने हुए है. छिटपुट घटनाओ को छोड़कर इस बंद का व्यापक असर देखने को नही मिल रहा है. शाम तक देश में बंद से कैसे हालात उत्पन होंगे यह देखना होगा. इस मामले में प्रधानमंत्री मोदी पहले ही विपक्ष की आलोचना कर चुके है. उन्होंने कल कहा की हम भ्रष्टाचार और कालाधन बंद करना चाहते है जबकि विपक्ष भारत बंद कर रहा है.

और पढ़े -   नोटबंदी और जीएसटी से जीडीपी पर प्रतिकूल असर पड़ा है: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE