जिस उमर खालिद को दिल्ली पुलिस पिछले एक सप्ताह से पूरे मुल्क में तलाश कर रही है, वो आज जेएनयू लौट आया है.

जेएनयू छात्रों के मुताबिक़ उमर खालिद रविवार क़रीब 10 बजे रात में जेएनयू कैम्पस के एडमिनिस्ट्रेटिव ब्लॉक के सामने न सिर्फ एक सभा को संबोधित किया है. बल्कि कन्हैया कुमार के रिहाई के लिए नारे भी बुलंद किए हैं. इस सभा में तकरीबन 100 से अधिक छात्र मौजूद थे.

और पढ़े -   दुर्गा प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगाने के ममता सरकार के आदेश पर हाई कोर्ट सख्त, पुछा सत्ता है तो मनमाना आदेश पारित करेंगे

umar-khalid-802-x-460

उमर खालिद ने अपने संबोधन में कहा कि वो अभी भी अपने स्टैण्ड पर क़ायम है. उसने कोई देश-विरोधी नारे नहीं लगाए हैं.

साथ ही उमर खालिद ने यह भी कहा कि “मैं मेरे खिलाफ़ कोई सम्मन नहीं है.” उमर खालिद के इस सभा में दूसरे आरोपी रामा नागा, अनिर्बान भट्टाचार्या, अनंत, आशुतोष भी जेएनयू कैंपस में मौजूद हैं.

इस सभा में जेएनयू छात्र संघ की उपाध्यक्ष शहला राशिद भी मौजूद थी. उन्होंने कहा कि –‘आगे जो कुछ भी होना है, हम उसके लिए तैयार हैं. हमें मालूम है कि पुलिस सादे ड्रेस में यहां भी मौजूद है. हम सबकुछ कैमरों के चकाचौंध में करना चाहते हैं.’

और पढ़े -   'अबकी बार मोदी सरकार' का नारा देने वाले ने खरीदा NDTV, 600 करोड़ रूपए में हुई डील

स्पष्ट रहे कि उमर खालिद पर राजद्रोह का आरोप लगाया गया है. आरोप है कि उसने जेएनयू में अफ़ज़ल गुरू की याद में ‘शहीदी दिवस’ मनाते हुए ‘भारत विरोधी’ नारे लगाएं. पुलिस 11 फ़रवरी से उमर खालिद की तलाश में थी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE