kaba sharif

नोटबंदी के कारण देश के बिगड़े हालात में अब भी कोई सुधार नजर नहीं आ रहा हैं. नोटबंदी का असर धार्मिक यात्राओं पर भी पड़ा हैं विशेषकर उमरा पर. उमरा के लिए मक्का जाने वाले जायरीनों को नोटबंदी के कारण अपनी यात्रा को रद्द करना पड़ा हैं.

नोटबंदी की वजह से आठ नवम्‍बर के बाद से मक्‍का जाने वाले सभी ग्रुप या तो रोक दिए गए हैं या फिर कैंसिल कर दिए गए हैं. वहीँ बहुत से उमरा जायरीन मक्‍का में ही फंसे हुए हैं.

आठ नवम्‍बर को आगरा से 26 लोगों का एक ग्रुप मक्‍का के पहुंचा था. इस दौरान जायरीनों ने जब भारतीय करेंसी को रियाल में बदलने की कोशिश की तो वे नोटबंदी के कारण अपनी करेंसी नहीं बदल पाए.

उन्हें बाद में पता चला कि भारत सरकार ने नोटबंदी का फैसले लेते हुए पुराने नोटों को अमान्य घोषित कर दिया हैं. मनी एक्‍सचेंजर वाले ने भी जायरीनों के भारतीय एक हजार और 500 के नोट बदलने से मना कर दिया.

जायरीनों ने भारतीय दूतावास पहुंच कर मदद मांगना चाहा तो वहां पर भी दो दिन लगातार दूतावास बंद मिला. तीसरे दिन जब दूतावास खुला तो दूतावास अधिकारियों ने भी हाथ खड़े करते हुए कहा कि हम कोई आरबीआई नहीं हैं जो नोट बदलें.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें